SpreadIt News | Digital Newspaper

भारत ने हासिल की बड़ी उपलब्धि, DRDO ने लिया भारत मे बनी मानवरहित लड़ाकू विमान का सफल परीक्षण

भारत ने हासिल की बड़ी उपलब्धि, DRDO ने लिया भारत मे बनी मानवरहित लड़ाकू विमान का सफल परीक्षण, जानिए इस उपलब्धि के बारे में विस्तार से

नई दिल्ली: भारत ने मानव रहित लड़ाकू विमान के विकास में काफी प्रगति की है। DRDO ने शुक्रवार को ऑटोनॉमस फ्लाइंग विंग टेक्नोलॉजी डिमॉन्स्ट्रेटर के पहले विमान का सफल परीक्षण किया है।

Advertisement

 इस विमान की खासियत यह है कि यह बिना पायलट के भी उड़ान भर सकता है। टेकऑफ से लेकर लैंडिंग तक का सारा काम बिना किसी की मदद के पूरा किया जा सकता है।

DRDO ने एक बयान में कहा कि यह परीक्षण शुक्रवार को कर्नाटक के चित्रदुर्ग स्थित वैमानिकी परीक्षण रेंज में सफलतापूर्वक किया गया। मानव रहित हवाई वाहन (UAV) को ऑटोनॉमस फ्लाइंग विंग टेक्नोलॉजी डिमॉन्स्ट्रेटर कहा जाता है।

Advertisement

 रक्षा मंत्रालय ने तब कहा था कि विमान पूरी तरह से ऑटोमैटिक मोड में संचालित किया गया था। विमान ने टेक-ऑफ, वे पॉइंट नेविगेशन और सुचारू टचडाउन के साथ एक सफल उड़ान भरी।

यह उड़ान भविष्य के मानव रहित विमानों के विकास के लिए महत्वपूर्ण प्रौद्योगिकियों को साबित करने और ऐसी सामरिक रक्षा तकनीकों में आत्मनिर्भरता की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम साबित करने के मामले में एक प्रमुख मील का पत्थर है।

Advertisement

DRDO ने कहा कि विमान ने सफलतापूर्वक उड़ान भरी। इस परीक्षण को मैन्युअल रूप से पूरा किया। सामरिक रक्षा तकनीकों में आत्मनिर्भरता की दिशा में यह एक महत्वपूर्ण कदम है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने DRDO को बधाई दी और कहा कि यह स्वायत्त विमानों के लिए एक बड़ी उपलब्धि है और महत्वपूर्ण सैन्य प्रणालियों के मामले में ‘आत्मनिर्भर भारत’ का मार्ग प्रशस्त करेगा।

Advertisement

यह भी पढ़े: अगर लोन पर गाडी लेना चाहते है, तो भूलकर भी ‘यह’ गलतियाँ न करे वरना लाखों का होगा नुकसान

Advertisement