SpreadIt News | Digital Newspaper

राजनितिक संकट के बिच उद्धव ठाकरे सरकार का चौंकाने वाला फैसला, बदल दिए ‘इन’ दो शहरों के नाम, जानिए क्या है पूरा मामला?

राजनितिक संकट के बिच उद्धव ठाकरे सरकार का चौंकाने वाला फैसला, बदल दिए ‘इन’ दो शहरों के नाम, जानिए क्या है पूरा मामला?

मुंबई: महाराष्ट्र में चल रहे राजनितिक घमासान के बिच उद्धव ठाकरे ने ऐतिहासिक फैसला लिया है। उन्होंने बड़े समय से हो रही मांग को पूरा कर दिया है। उन्होंने औरंगाबाद और उस्मानाबाद शहरों का नाम बदल दिया है।

Advertisement

कुर्सी पर संकट के बीच महाराष्ट्र की उद्धव सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. कैबिनेट ने औरंगाबाद शहर का नाम ‘संभाजीनगर’ करने को मंजूरी दे दी है। इसलिए उस्मानाबाद शहर का नाम बदलकर धाराशिव कर दिया गया है।

साथ ही, नवी मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का नाम बदलकर दिवंगत डीबी पाटिल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के नाम पर रखा गया है। गौरतलब है कि औरंगाबाद शहर का नाम बदलने की मांग लंबे समय से उठ रही है। सूत्रों के मुताबिक कैबिनेट की बैठक के दौरान कई मंत्रियों ने नाम बदलने का विरोध किया।

Advertisement

महाराष्ट्र सरकार ने यह फैसला ऐसे समय में लिया है जब राज्यपाल ने गुरुवार को फ्लोर टेस्ट का सामना करने को कहा है। लेकिन शिवसेना ने इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है. अगर सुप्रीम कोर्ट ने पार्टी के पक्ष में फैसला नहीं सुनाया तो उद्धव ठाकरे को अपनी सीट गंवानी पड़ेगी.

इस बीच, कैबिनेट बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने कहा, ”ढाई साल तक आपके सहयोग के लिए मैं आपका आभारी हूं.’ अगर मुझसे कोई गलती हुई है तो मैं माफी मांगता हूं।”

Advertisement

उद्धव ठाकरे की कैबिनेट बैठक में पुणे का नाम बदलने की मांग की थी। कांग्रेस ने पुणे का नाम बदलकर जिजाऊ नगर करने का फैसला किया था। गौरतलब है कि जीजाउ छत्रपति शिवाजी की माता जीजाबाई का नाम है।

गौरतलब है कि आठ जून को औरंगाबाद में शिवसेना की रैली के दौरान उद्धव ठाकरे ने कहा था कि शहर का नाम बदला जाएगा. औरंगाबाद का नाम बदलने को लेकर लंबे समय से राजनीति चल रही है। ठाकरे का फैसला ऐसे समय में आया है जब उनकी सरकार संकट में है।

Advertisement

यह भी पढ़े: सबकी चहीती Scorpio ने बदला अपना अवतार; लुक देखकर हो जाओगे पागल!

Advertisement