SpreadIt News | Digital Newspaper

रणजी क्रिकेट में बन गया इतिहास, पहली बार ‘यह’ टीम बनी चैंपियन, ‘यह’ स्टार खिलाडी बना मैन ऑफ़ द सीरीज!

रणजी क्रिकेट में बन गया इतिहास, पहली बार ‘यह’ टीम बनी चैंपियन, ‘यह’ स्टार खिलाडी बना मैन ऑफ़ द सीरीज!

क्रिकेट न्यूज़: मध्य प्रदेश की टीम ने शानदार प्रदर्शन के साथ रणजी ट्रॉफी 2021-22 जीत ली है। बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गए फाइनल मुकाबले में एमपीए ने मुंबई को 6 विकेट से हरा दिया. बता दे की मध्य प्रदेश ने अब तक के इतिहास में पहली बार रणजी ट्रॉफी जीती।

Advertisement

इससे पहले साल 1999 में चंद्रकांत पंडित की कप्तानी में मध्य प्रदेश की टीम फाइनल में पहुंची थी. जहां कर्नाटक ने उन्हें 96 रन से हराया। गौरतलब है कि चंद्रकांत पंडित वर्तमान में एमपी के मुख्य कोच हैं।

मुंबई ने 108 रनों का रखा लक्ष्य

Advertisement

पांचवें दिन के शुरुआती सत्र में मुंबई ने अपने बाकी के आठ विकेट भी गंवा दिए। मुंबई की दूसरी पारी 269 पर समाप्त हुई। मुंबई के लिए सुवेद पार्कर ने दूसरी पारी में 51 रन बनाए। जबकि सरफराज ने 45 और कप्तान पृथ्वी शॉ ने 44 रन बनाए। एमपी के कुमार कार्तिकेयन ने सर्वाधिक चार विकेट लिए।

एमपीए ने 108 रन का लक्ष्य आसानी से हासिल कर लिया। एमपी के लिए दूसरी पारी में हिमांशु मंत्री ने सर्वाधिक 37 रन बनाए। जबकि शुभम शर्मा और रजत पाटीदार ने 30-30 रनों की पारी खेली.

Advertisement

मुंबई ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया।मुंबई ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और पहली पारी में 374 रन बनाए। सरफराज खान ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए 134 रन बनाए। उन्हें मन ऑफ़ द सीरीज का अवार्ड मिला। इसके अलावा यशस्वी जायसवाल ने 78 और पृथ्वी शॉ ने 47 रन का योगदान दिया। एमपी की ओर से गौरव यादव ने चार और अनुभव अग्रवाल ने तीन विकेट लिए।

मध्य प्रदेश की पहली पारी 374 के विशाल स्कोर के जवाब में 536 पर समाप्त हुई। टीम के शानदार प्रदर्शन में रजत पाटीदार, शुभम शर्मा और यश दुबे का अहम योगदान रहा। जिसने सदी पर ठोकर खाई। रजत पाटीदार ने 20 चौकों सहित 122 रन बनाए। जैश दुबे ने 133 और शुभम शर्मा ने 116 रन बनाए। मुंबई के लिए सबसे ज्यादा पांच विकेट शम्स मुलानी ने लिए।

Advertisement

रणजी ट्रॉफी के अंतिम 5 विजेता

2021-22 मध्य प्रदेश
2019-20 सौराष्ट्र
2018-19 विदर्भ
2017-18 विदर्भ
2016-17 गुजरात

Advertisement

मुंबई 41 बार का चैंपियन

मध्य प्रदेश 87 साल पुराने रणजी ट्रॉफी इतिहास में केवल दूसरा फाइनल खेल रहा था। जबकि मुंबई 41 बार चैंपियन रही थी और रिकॉर्ड 47वां फाइनल खेल रही थी। सेमीफाइनल में मध्य प्रदेश ने बंगाल को 174 रन से हराया। वहीं मुंबई ने सेमीफाइनल  में यूपी को मात दी

Advertisement