SpreadIt News | Digital Newspaper

सूरत, गुवाहाटी के बाद ‘गोवा’ जा सकते है एकनाथ शिंदे! क्या भाजपा की मदद से होगा प्लान B? जानिए पूरी खबर विस्तार से

सूरत, गुवाहाटी के बाद ‘गोवा’ जा सकते है एकनाथ शिंदे! ‘इस’ वजह से उन्हें यह कदम उठाना पड़ सकता है, जानिए पूरी खबर विस्तार से

गुवाहाटी: महाराष्ट्र की राजनीति में अभी भी बड़ी उथल-पुथल देखने को मिल सकती है. शिवसेना अध्यक्ष और महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे की तमाम अपीलों के बावजूद गुरुवार को कई अन्य विधायकों ने बगावत कर दी और एकनाथ शिंदे के पास चले गए.

Advertisement

शिंदे का दावा है कि उनके साथ 46 विधायक हैं। इन सबके बीच चर्चा है कि इस पूरे खेल के पीछे भाजपा का हाथ है। सूत्रों के मुताबिक बीजेपी और एकनाथ शिंदे का प्लान बी भी तैयार है। आइए आपको बताते हैं क्या है ये पूरा खेल?

सूत्रों के मुताबिक बीजेपी और एकनाथ शिंदे का प्लान बी भी तैयार है। महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को कोरोना संक्रमण की वजह से अस्पताल में भर्ती कराया गया है। गोवा के राज्यपाल श्रीधरन पिल्लई को कार्यवाहक राज्यपाल की जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है।

Advertisement

इसमें एकनाथ शिंदे अपने सभी बागी विधायकों के साथ मुंबई की बजाय सीधे गोवा जा सकते हैं और सभी विधायकों के साथ गोवा में राज्यपाल के सामने परेड कर सकते हैं.

उनका गोवा जाने का दूसरा सबसे बड़ा कारण यह है कि भाप और एकनाथ शिंदे को डर है कि अगर बागी विधायकों को फ्लोर टेस्ट के लिए मुंबई ले जाया गया, तो उनमें से कुछ उद्धव ठाकरे या शरद पवार के डर से टूट सकते हैं। क्योंकि कानून व्यवस्था और पुलिस व्यवस्था की जिम्मेदारी अभी उनके हाथ में है।

Advertisement

 

इसके अलावा आज दोपहर एकनाथ शिंदे अपने दो-तिहाई सदस्यों के साथ वर्तमान सरकार को दिए गए समर्थन को वापस लेने के लिए एक पत्र भी प्रस्तुत कर सकते हैं। बाद में एकनाथ शिंदे अपने दो तिहाई विधायकों के साथ मूल शिवसेना होने का दावा भी करेंगे।

Advertisement

एकनाथ शिंदे के बारे में कहा जा रहा है कि उन्हें कुल 49 विधायकों का समर्थन प्राप्त है, जिनमें से 41 विधायक शिवसेना के हैं जबकि बाकी निर्दलीय हैं।

Advertisement