SpreadIt News | Digital Newspaper

बारिश के मौसम में बिमार होने का खतरा? अपनाइए इन आसान टिप्स को, बीमारी आपके पास भी नही भटकेगी!

बारिश के मौसम में बिमार होने का खतरा? अपनाइए इन आसान टिप्स को, बीमारी आपके पास भी नही भटकेगी!

स्वास्थ्य: मानवी शरीर को किसी भी ऋतु के बदलाव के बाद काफी परेशानी होती है। इस वजह से हम अक्सर देखते है कि ऋतु में बदलाव के साथ ही कई लोग बीमार पड़ने लगते है। अब गर्मी जा चुकी है औए मानसून आ चुका है। इस वजह से कई लोगों को बीमार पड़ने का डर सता रहा होगा।

Advertisement

बारिश शुरू होने के साथ ही बीमारी और संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। सर्दी और गर्मी की तुलना में मानसून में वायरस और बैक्टीरिया के संपर्क में आने का खतरा दोगुना हो जाता है।

वातावरण में नमी होने से हानिकारक बैक्टीरिया पनपते हैं। इससे कई स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। बीमारी का निदान तब तक नहीं किया जा सकता जब तक कि किसी सामान्य बीमारी के और लक्षण न हों या स्वास्थ्य पर गंभीर प्रभाव न पड़े। इस कारण मानसून में सुरक्षित रहने के लिए शीघ्र निदान और स्वच्छता के उपाय किए जा सकते हैं।

Advertisement

लेकिन आपको डरने की जरूरत नहीं है। हम आपके लिए इस लेख में मानसून में खुद को स्वस्थ रखने के कुछ आसान टिप्स देने जा रहे है, जिन्हें फॉलो कर आप स्वस्थ रह सकते है।

यदि किसी व्यक्ति की प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत नहीं है, तो व्यक्ति को संक्रमण बहुत जल्दी हो जाएगा। इसलिए अपने दैनिक आहार में संतुलित आहार को शामिल करें, जिसमें फल, सब्जियां और साबुत अनाज शामिल हैं।

Advertisement

ग्रीन टी का सेवन इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है। मानसून के दौरान वायरल फीवर, बैक्टीरियल और अन्य परजीवी संक्रमण के मामले सामने आते हैं। प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होने पर इस प्रकार की मानसूनी बीमारी को रोका जा सकता है।

व्यक्तिगत स्वच्छता बनाए रखें

Advertisement

स्वच्छता का ध्यान रखें। त्वचा को शुष्क और स्वच्छ रखने की कोशिश करें। अगर त्वचा गीली है, तो बैक्टीरिया आसानी से आपके शरीर पर हमला कर सकते हैं, जिससे प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर हो जाती है।

हाइड्रेटेड रहना

Advertisement

मानसून के दौरान प्यास कम होती है जिससे व्यक्ति पानी कम पीता है। शरीर को किसी भी मौसम में हाइड्रेटेड रहने की जरूरत होती है।

 पेट से संबंधित बीमारियों के खतरे को कम करने के लिए बहुत अधिक पानी पीना चाहिए। सुबह उठकर अदरक की चाय, कैमोमाइल चाय पीने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

Advertisement

स्ट्रीट फूड खाने से बचें

सड़क पर बिकने वाली सब्जियों और फलों से बचना चाहिए। सड़कें आमतौर पर कीचड़ भरी होती हैं। जो कई तरह के बैक्टीरिया के लिए इन्क्यूबेटर बनाता है। सड़कों के संपर्क में आने वाले भोजन में संक्रामक जीवाणु उत्पन्न होते हैं। इस कारण सड़क पर भोजन नहीं करना चाहिए।

Advertisement