SpreadIt News | Digital Newspaper

महाराष्ट्र राजनीतिक बवाल:  भाजपा का सनसनीखेज बयान, बोले ‘इसमें हमारा हाथ…’

महाराष्ट्र राजनीतिक बवाल:  भाजपा का सनसनीखेज बयान, बोले ‘इसमें हमारा हाथ…’

मुंबई : महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे की सरकार की सत्ता अब खतरे में है। माना जा रहा है कि ठाकरे कभी भी इस्तीफा दे सकते हैं। दरअसल, शिवसेना अध्यक्ष की अपनी ही पार्टी पर पकड़ ढीली हो गई है।

Advertisement

शिवसेना के खिलाफ बगावत करने वाले एकनाथ शिंदे ने गुजरात के बाद गुवाहाटी में 40 से ज्यादा विधायकों के साथ डेरा डाला है। ऐसे में इस घटना की असली मास्टरमाइंड मानी जा रही बीजेपी खुद को इस बवाल से दूर रखने की कोशिश कर रही है।

बीजेपी जहां इस मामले को शिवसेना का अंदरूनी मामला बता रही है वहीं बागी विधायकों को बीजेपी शासित राज्य में ठहराया जा रहा है। विधायकों की सुरक्षा ऐसी है कि वहां कोई बाहरी व्यक्ति जा भी नहीं सकता। भाजपा ने स्पष्ट किया है कि, ‘इसमे हमारा हाथ नही है!’

Advertisement

दरअसल, महाराष्ट्र में शुरू हुए इस सियासी खेल से बीजेपी को ही फायदा होने वाला है।कभी शिवसेना की सहयोगी रही भाजपा ने गठबंधन में मिलकर चुनाव लड़ा, लेकिन शिवसेना अध्यक्ष की महत्वाकांक्षा इससे ज्यादा थी।

प्रचंड जीत के बाद भी शिवसेना भाजपा से अलग हो गई। इसके बाद शिवसेना ने कांग्रेस और एनसीपी के साथ मिलकर सरकार बनाई। 5 साल से मुख्यमंत्री बनने की तैयारी कर रहे उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री के सरकारी आवास से निकलकर अपने आवास मातोश्री पहुंचे हैं।

Advertisement

बीजेपी महाराष्ट्र में हो रही इस बड़ी घटना के बावजूद बीजेपी का कहना है कि यह शिवसेना का अंदरूनी मामला है।

बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि शिवसेना ने सत्ता के लिए हिंदुत्व का रास्ता छोड़ दिया और कांग्रेस और एनसीपी के साथ गठबंधन में सरकार बनाई, जनादेश का अपमान किया और हमें धोखा दिया। इस अनैतिक और असामान्य गठबंधन को तोड़ना पड़ा।

Advertisement

भाजपा नेता ने कहा कि यह उद्धव ठाकरे की विफलता थी कि वह अपनी पार्टी को संभाल नहीं पाए। कभी अजित पवार कांड में हड़बड़ी में रहने वाली बीजेपी को अब कोई जल्दी नहीं है।

Advertisement