SpreadIt News | Digital Newspaper

करो या मरो मैच में टीम इंडिया की जबरदस्त जीत, दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जीत के हीरो बने ‘यह’ खिलाड़ी, जानिए मैच के अहम पॉइंट्स विस्तार से

करो या मरो मैच में टीम इंडिया की जबरदस्त जीत, दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जीत के हीरो  बने ‘यह’ खिलाड़ी, मैच के अहम पॉइंट्स विस्तार से

क्रिकेट न्यूज़: रुतुराज गायकवाड़ और ईशान किशन के शानदार बल्लेबाजी प्रदर्शन के बाद भारत ने तीसरे टी20 मैच में हर्शल पटेल और चहल की घातक गेंदबाजी की मदद से अफ्रीका पर 48 रन से जीत दर्ज कर सीरीज में वापसी की.

Advertisement

सीरीज में 0-2 से पिछड़ने के बाद भारत ने करो या मरो मैच जीत लिया है। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने 20 ओवर में 5 विकेट पर 179 रन बनाए। जवाब में अफ्रीकी टीम 10 ओवर में 131 रन पर ऑल आउट हो गई।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी अफ्रीका को पहला झटका 23 रन पर मिला । कप्तान बाउमा ने 8 रन बनाए और अक्षर का शिकार हो गए। हर्शल पटेल के ओवर में रिजा हेंड्रिक्स 23 रन पर आउट हो गईं। पावरप्ले में दर्शकों ने 2 विकेट पर 38 रन बनाए।

Advertisement

 पिछले मैच के हीरो रहे हेनरिक क्लासेन भी सिर्फ 29 रन बनाकर एक मूव का शिकार हुए थे। डेविड मिलर ने तीन रन बनाए। रबाडा 9, केशव महाराज 11 रन बनाकर आउट हुए।

भारत की ओर से हर्षल पटेल ने 3.1 ओवर में 25 रन देकर चौका लगाया। इसके अलावा चहल ने किफायती गेंदबाजी की। उन्हें 20 रनों पर 3 सफलता मिली। भुवी और अक्षर को एक-एक विकेट मिला।

Advertisement

भारतीय टीम के दोनों सलामी बल्लेबाज गायकवाड़ और ईशान किश ने करो या मरो के मैच में टीम को मजबूत शुरुआत दिलाई. दोनों ने पावरप्ले में 57 रन जोड़े।

रुतुराज गायकवाड़ शुरू से ही आक्रामक थे। गायकवाड़ ने अपने टी20 करियर की पहली हाफ सेंचुरी में 57 रन बनाए। रुतुराज 35 गेंदों में 7 चौके और दो छक्कों पर आउट हो गए। तो इशान किशन ने 54 रन बनाए। किशन ने 35 गेंदों में 5 चौके और 2 छक्के लगाए.

Advertisement

श्रेयस अय्यर 14 रन पर आउट हुए। कप्तान ऋषभ पंत आज फिर फ्लॉप हो गए और महज 6 रन पर प्रिटोरियस का शिकार हो गए। हार्दिक पांड्या 21 गेंदों में 4 चौकों की मदद से 31 रन बनाकर नाबाद रहे। दिनेश कार्तिक 6 रन बनाकर रबाडा का शिकार हुए। तो अक्षर पटेल ने 5 रन का योगदान दिया।

दक्षिण अफ्रीका के ड्वेन प्रिटोरियस ने 4 ओवर में 29 रन देकर दो विकेट लिए। इसके अलावा रबाडा, शम्सी, महाराज को एक-एक सफलता मिली।

Advertisement