SpreadIt News | Digital Newspaper

अगर आपकी उम्र 30 साल या अधिक है तो सावधान, ‘इन’ पदार्थों को खाना टालिए, वरना सेहत को होंगे ‘यह’ नुकसान

अगर आपकी उम्र 30 साल या अधिक है तो सावधान, ‘इन’ पदार्थों को खाना टालिए, वरना सेहत को होंगे ‘यह’ नुकसान

स्वास्थ्य: मानव शरीर भी उम्र के साथ बदलता है। बढ़ती उम्र के साथ जिम्मेदारियां बढ़ती जाती हैं, जिससे हमें कई काम करने पड़ते हैं। हालांकि, अपनी जीवनशैली में बदलाव करना आसान नहीं है।

Advertisement

30 साल की उम्र के बाद इंसान की जिंदगी में काफी बदलाव आता है। इन परिवर्तनों के साथ-साथ हमें अपने खान-पान पर तत्काल नियंत्रण करने की आवश्यकता है।

 इस उम्र में प्रोटीन, विटामिन, कैल्शियम और पोषक तत्वों से भरपूर आहार का पालन करना चाहिए। आजकल लोग बाहर का खाना खाने के आदी हो गए हैं, खासकर जंक फूड। आइए जानते है कौनसे पदार्थ आपको टालने चाहिए और क्यों?

Advertisement

बर्गर
कुछ लोगों को लगातार बर्गर और फ्रेंच फ्राइज खाने की आदत होती है, जो आगे चलकर उनके लिए परेशानी का सबब बन सकती है। ये खाद्य पदार्थ ओमेगा -6 फैटी एसिड और सोडियम में उच्च मात्रा में होता हैं।

 ये दोनों ही चीजें शरीर के लिए हानिकारक होती हैं। इससे हार्ट अटैक के अलावा और भी कई बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। एक बर्गर को पचने में 24 से 72 घंटे का समय लगता है। बर्गर में हानिकारक ट्रांस वसा को पचाने में शरीर को 51 दिन तक का समय लग सकता है।

Advertisement

एनर्जी ड्रिंक्स

क्या एनर्जी ड्रिंक वास्तव में एनर्जी बढ़ाता है? एनर्जी ड्रिंक पीने से मानसिक और शारीरिक ऊर्जा को बढ़ावा मिलती है ऐसे कोई मामले नही है। एनर्जी ड्रिंक्स में प्रति 100 मिली में 294mg कैफीन होता है।

Advertisement

शोध से पता चला है कि दिन में 400 मिलीग्राम तक कैफीन लेने से ज्यादा नुकसान नहीं होता है, लेकिन अगर कोई व्यक्ति एक दिन में एक से ज्यादा एनर्जी ड्रिंक पीता है तो शरीर में कैफीन की मात्रा बढ़ जाती है।

जो उनके शरीर के लिए काफी हानिकारक साबित होता है। इस तरह के एनर्जी ड्रिंक्स का ज्यादा सेवन दांतों और हड्डियों को भी नुकसान पहुंचा सकता है।

Advertisement

Red Meat

लाल मांस को रेड मीट भी कहा जाता है। जो मांस पकाने से पहले लाल होता है उसे लाल मांस कहा जाता है। यह ज्यादातर स्तनधारियों का मांस है। रेड मीट में बीफ, पोर्क, भेड़ का बच्चा, मटन, बकरी, वील और वेनसन शामिल हैं।

Advertisement

 इस प्रकार के मांस में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक होती है। जो शरीर को नुकसान पहुंचाता है।

 रेड मीट के सेवन से दुनिया में कोलोरेक्टल कैंसर के साथ-साथ आंत्र कैंसर की घटनाओं में वृद्धि हुई है, मांस के सेवन से पुरुषों में कोलोरेक्टल कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।

Advertisement

बढ़ती उम्र के साथ शरीर का पाचन तंत्र और पाचन शक्ति भी कम होती जाती है। जिससे शरीर भी मांस को पचा नहीं पाता है।

सोडायुक्त पेय

Advertisement

जो ड्रिंक्स सोडा युक्त होती है, उन्हें नियमित आहार में रखने से हृदय रोग, मोटापा, इंसुलिन प्रतिरोध जैसी समस्याएं होती हैं। इन ड्रिंक्स में पाया जाने वाला एसिड दांतों में कैविटी का कारण बनता है।

Advertisement