SpreadIt News | Digital Newspaper

Apple कंपनी लगा तगड़ा झटका, अब दुनिया की सबसे मूल्यवान कंपनी नही रही, जानिए अब कौनसी कंपनी है नंबर एक पर?

Apple कंपनी लगा तगड़ा झटका, अब दुनिया की सबसे मूल्यवान कंपनी नही रही, जानिए अब कौनसी कंपनी है नंबर एक पर?

विश्व: दुनिया की सबसे मूल्यवान कंपनी होने का ताज अमेरिकी प्रौद्योगिकी दिग्गज Apple Inc के सिर से छीन लिया गया है। बुधवार को कंपनी के शेयरों में गिरावट आई, इसकी मार्केट वैल्यू फिसलकर दूसरे स्थान पर आ गई है। हालांकि, यह अभी भी अमेरिकी कंपनियों में नंबर वन है।

Advertisement

IPhone बनाने वाली अमेरिकी टेक दिग्गज को सऊदी अरब की स्टेट ऑयल कंपनी सऊदी अरामको ने दस्तक दे दी है । यह दुनिया का सबसे बड़ा तेल उत्पादक है।

रूस- यूक्रेन युद्ध प्रभाव के कारण कच्चे तेल की कीमतों में वृद्धि से सऊदी अरामको को लाभ हुआ है, जबकि हाल के दिनों में तकनीकी कंपनियों के शेयरों में लगातार गिरावट आ रही है।

Advertisement

बुधवार की समाप्ति पर, सऊदी अरामको का बाजार में वैल्यू 2.42 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंच गया था। जबकि ऐप्पल का 2.37 ट्रिलियन डॉलर तक गिर गया।

 इस साल की शुरुआत में एपल का मार्केट कैप 3 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंच गया था। उस समय, अरामको एप्पल से 1 ट्रिलियन डॉलर पीछे था।

Advertisement

 लेकिन उसके बाद से एपल के शेयर में करीब 20 फीसदी की गिरावट आई है। दूसरी ओर, अरामको के शेयरों में 28 फीसदी की तेजी आई है।

जहां तक ​​अमेरिकी कंपनियों की बात है तो एपल अभी भी नंबर वन है। 1.95 ट्रिलियन डॉलर के मार्केट कैप के साथ माइक्रोसॉफ्ट दूसरी सबसे बड़ी अमेरिकी कंपनी है। Apple की पहली तिमाही (जनवरी-मार्च 2022) का प्रदर्शन उम्मीद से बेहतर रहा है।

Advertisement

लेकिन अप्रैल-जून तिमाही में कंपनी के प्रदर्शन पर चीन के कई शहरों में कोरोना की वजह से लगे लॉकडाउन और सप्लाई चेन पर असर पड़ सकता है.

इस बीच, 2021 में सऊदी अरामको के शुद्ध लाभ में 124% की वृद्धि होगी। 2021 में इस सबसे बड़े तेल उत्पादक का शुद्ध लाभ 110 अरब डॉलर तक पहुंच गया है।

Advertisement

2020 में यह 49 अरब डॉलर था। यूक्रेन-रूस युद्ध के कारण अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। इसका फायदा आरामको को मिला है।

Advertisement