SpreadIt News | Digital Newspaper

WHO ने किया भारत सरकार की काली करतूत का पर्दाफाश, सरकार ने छुपाए कोरोना मौत के आंकड़े, सही आंकड़ा जानकर आपको झटका लगेगा!

WHO ने किया भारत सरकार की काली करतूत का पर्दाफाश, सरकार ने छुपाए कोरोना मौत के।आंकड़े, सही आंकड़ा जानकर आपको झटका लगेगा!

नई दिल्ली: विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भारत में कोरोना संकट से मरने वालों की संख्या जारी कर दी है। अब स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या की गणना के लिए WHO द्वारा इस्तेमाल किए गए गणितीय मॉडल के इस्तेमाल से इनकार करते हुए कहा है कि आंकड़े वास्तविकता से अलग हैं।

Advertisement

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश में जन्म और मृत्यु पंजीकरण के लिए एक मजबूत व्यवस्था है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने डब्ल्यूएचओ की डेटा संग्रह प्रणाली को सांख्यिकीय रूप से त्रुटिपूर्ण और वैज्ञानिक रूप से संदिग्ध बताया है।

WHO का दावा

Advertisement

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक जनवरी 2021 से दिसंबर 2021 के बीच भारत में 47 लाख लोगों की कोरोना से मौत हुई। यह भारत के आधिकारिक आंकड़े से 10 गुना और दुनिया में होने वाली मौतों का एक तिहाई है।

 इन आंकड़ों के मुताबिक दुनिया में कोरोना से कुल 1.5 करोड़ मौतें कोरोना से हुई हैं। यह 6 मिलियन के आधिकारिक आंकड़े के दोगुने से भी अधिक है।

Advertisement

भारत के आंकड़े सरकार के मुताबिक

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, इस दौरान देश में कोरोना से 5,20,000 लोगों की मौत हो चुकी है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि भारत ने डब्ल्यूएचओ के इस दावे पर लगातार सवाल उठाए हैं।

Advertisement

मंत्रालय के अनुसार  भारतीय राज्यों से संबंधित डेटा मीडिया रिपोर्ट्स, वेबसाइटों और गणितीय मॉडल के माध्यम से एकत्र किया गया है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) प्रणाली खराब है।

Advertisement

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि डेटा संग्रह प्रणाली भारत के मामले में उच्च मृत्यु दर का अनुमान लगाने का एक बहुत ही खराब और विश्व स्तर पर संदिग्ध तरीका है। मंत्रालय ने कहा कि मॉडल के भारत के विरोध के बावजूद विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने इसे संबोधित किए बिना अनुमान जारी कर दिया था।

हालांकि हम जमीनी हकीकत से अंदाजा लगा सकते है कि भले जी WHO के आंकड़े एकदम सटीक न हो। लेकिन सरकार द्वारा जारी किए आंकड़े से कई गुना ज्यादा मौते भारत मे हुई हो सकती है।

Advertisement