SpreadIt News | Digital Newspaper

लगातार पेट्रोडीजल के दाम बढ़ाने के पीछे की सरकार ने बताई मज़बूरी, जानिए क्यों बढ़ रहे है दाम?

लगातार पेट्रोडीजल के दाम बढ़ाने के पीछे की सरकार ने बताई मज़बूरी, जानिए क्यों बढ़ रहे है दाम?

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने लोकसभा में कहा कि भारत में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी दूसरे देशों में कीमतों में बढ़ोतरी से दस गुना कम है।  इसका मतलब है कि भारत में कीमतों मे अन्य देशों की तुलना में केवल 5 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

Advertisement

 उन्होंने कहा कि अमरीका में तेल की कीमतों में 51 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। इसके अलावा कनाडा में 52 फीसदी, जर्मनी में 55 फीसदी, ब्रिटेन में 55 फीसदी और स्पेन में 58 फीसदी की वृद्धि हुई है. लेकिन भारत में तेल की कीमतों में केवल 5 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। तेल की बढ़ती कीमतों के विरोध में विपक्षी नेताओं ने लोकसभा का बहिष्कार करने का आह्वान किया।

मंगलवार को एक बार फिर पेट्रोल और डीजल की कीमतों में 80 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई। पिछले दो सप्ताह में कुल 9.20 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि की गई है। सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनियों द्वारा जारी मूल्य निर्देशों के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में पेट्रोल की कीमत 103.81 रुपये प्रति लीटर से बढ़ाकर 104.61 रुपये प्रति लीटर और डीजल को 95.07 रुपये प्रति लीटर से बढ़ाकर 95.87 रुपये प्रति लीटर कर दिया गया है।

Advertisement

करीब साढ़े चार महीने तक स्थिर रहने के बाद 22 मार्च को पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी की गई थी। तब से कीमतों में 13वीं बार तेजी आई है। पिछले दो हफ्तों में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में 9.20 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई है।

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा कि मोदी सरकार के कार्यकाल में अब हर सुबह अपने साथ उत्साह ही नहीं, महंगाई का दर्द भी लेकर आती है. ईंधन लूट की नई किस्त में आज सुबह पेट्रोल-डीजल के दामों में 40 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई है. सीएनजी भी 2.50 रुपये प्रति किलो चढ़ा है।

Advertisement