SpreadIt News | Digital Newspaper

बैंक में चेक से भुगतान करने वालों के लिए बड़ी खबर, बदल गए है नियम, जानिए  विस्तार से 

बैंक में चेक से भुगतान करने वालों के लिए बड़ी खबर, बदल गए है नियम, जानिए  विस्तार से

नई दिल्ली: यदि आप अपने वित्तीय लेनदेन में अधिक चेक का उपयोग करते हैं।  तो यह जानकारी आपके लिए फायदेमंद रहेगी। देश में चेक से भुगतान करने के नियम बदल गए हैं। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के निर्देशों के अनुसार बैंक चेक भुगतान के लिए सकारात्मक भुगतान प्रणाली (Positive Pay System PPS) लागू कर रहे हैं ।

Advertisement

पंजाब नेशनल बैंक (PNB) 4 अप्रैल से पॉजिटिव पे सिस्टम (PPS) नये नियम लागू करने जा रहा है। पंजाब नेशनल बैंक (PNB) सकारात्मक वेतन प्रणाली में बदलाव करने जा रहा है। बैंक ने यह जानकारी अपनी वेबसाइट और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के ट्विटर पर दी है।

एक सकारात्मक भुगतान प्रणाली के लिए, बैंक के ग्राहकों को बैंक में अपना खाता नंबर, चेक नंबर, चेक अल्फा, चेक की तारीख, चेक की राशि, जारी किए जा रहे चेक का नाम आदि प्रदान करना आवश्यक है। सकारात्मक वेतन प्रणाली की जांच किए बिना चेक राशि का भुगतान नहीं किया जाएगा।

Advertisement

अन्य बैंकों ने भी इसे लागू किया

पंजाब नेशनल बैंक से पहले कई और सार्वजनिक और निजी बैंकों ने इस नये नियम को लागू किया है। SBI, Bank of Baroda, Bank of India, HDFC, ICICI आदि बैंको ने यह प्रणाली लागू की है।

Advertisement

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने यह नियम 1 जनवरी 2021 से लागू किया है। SBI में यह नियम  50,000 रु से अधिक चेक भुगतानों पर लागू होता है। 1 फरवरी से बैंक ऑफ बड़ौदा में सकारात्मक वेतन पुष्टि के नियम लागू हुए है ।

एक सकारात्मक वेतन प्रणाली क्या है?

Advertisement

देश के केंद्रीय बैंक और भारतीय रिजर्व बैंक ने बैंकिंग धोखाधड़ी को रोकने के लिए वर्ष 2020 में चेक के लिए ‘सकारात्मक भुगतान प्रणाली’ शुरू करने का निर्णय लिया है। इस प्रणाली के तहत रु. 50,000 रुपये से अधिक के भुगतान के ग्राहक  वेरिफिकेशन के लिए कुछ जानकारियां लेनी होती है।

SMS , मोबाइल ऐप, इंटरनेट बैंकिंग या एटीएम के माध्यम से सकारात्मक भुगतान प्रणाली के माध्यम से चेक जानकारी दी जा सकती है। चेक का भुगतान करने से पहले इन विवरणों की जांच की जाती है।

Advertisement