SpreadIt News | Digital Newspaper

मुकेश अंबानी रह गये पीछे; प्लानिंग के साथ गौतम अडानी आये ‘इस’ रेस में

नई दिल्ली :

भारत और एशिया के दूसरे सबसे बड़े रईस गौतम अडानी (Gautam Adani) और अडानी समूह(Adani Group) सऊदी अरब में संभावित साझेदारियां तलाश रहा है। इसके लिए अडानी समूह ने सऊदी अरामको से बात की है। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक अडानी समूह दुनिया के सबसे बड़े तेल निर्यातक अरामको में हिस्सेदारी खरीदने की संभावना भी तलाश रहा है।

Advertisement

यह कंपनी मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) के तेल कारोबार में निवेश की संभावनाएं तलाश रही थी। इसके लिए दोनों कंपनियों के बीच दो साल तक बातचीत भी चली थी लेकिन पिछले साल नवंबर में यह खत्म हो गई। हालांकि, बाद में रिलायंस ने अरामको को अपनी तेल रिफाइनरी और पेट्रोरसायन कारोबार में 20 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने के प्रस्तावित 15 अरब डॉलर के सौदे के पुनर्मूल्यांकन की घोषणा कर दी।

सूत्रों का कहना है कि अडानी फिलहाल अरामको के शेयरों को खरीदने के लिए अरबों डॉलर खर्च नहीं करेंगे लेकिन कंपनी वह व्यापक साझेदारी पर जोर दे सकते हैं। कम से कम अल्पावधि में, यह एक निवेश को व्यापक टाई-अप या एसेट स्वैप सौदे से जोड़ने की कोशिश कर सकता है। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट में कहा गया है कि विचार-विमर्श प्रारंभिक चरण में है।

Advertisement

ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के मुताबिक गौतम अडानी दुनिया के अमीरों की सूची में 11वें स्थान पर हैं। गौतम अडानी की दौलत 3.19 बिलियन डॉलर बढ़कर 90.5 बिलियन डॉलर पर पहुंच गई है। अडानी एशिया के दूसरे सबसे रईस अरबपति हैं।

Advertisement