SpreadIt News | Digital Newspaper

युद्ध में सिर्फ यूक्रेन ही नहीं बल्कि रशिया के भी हजारो सैनिक हुए है शहीद, जानिए कितने रुसी सैनिकों को अब तक गंवानी पड़ी अपनी जान ?

युद्ध में सिर्फ यूक्रेन ही नहीं बल्कि रशिया के भी हजारो सैनिक हुए है शहीद, जानिए कितने रुसी सैनिकों को अब तक गंवानी पड़ी अपनी जान ?

क्यीव: रशिया के आक्रमण के बाद अब तक हजारो यूक्रेनी सैनिक और सेंकडो आम नागरिक मारे जाने की खबर यही। हालाँकि इस जान की हानि से रशिया भी नहीं बच पाया। खबर है की अब तक हजारो रुसी सैनिक भी शहीद हुए है।

Advertisement

यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की ने बयां दिया है कि, अब तक रशिया के भी ६,००० से ज्यादा सैनिक इस हमले में मारे जा चुके है।  रूस के हमले का जिक्र करते हुए यूक्रेन के राष्ट्रपति ने कहा कि यहां का हमला साबित करता है कि कई रूसियों के लिए कीव एक विदेशी भूमि की तरह है, ये लोग कीव के बारे में कुछ नहीं जानते हैं। वे हमारे इतिहास के बारे में नहीं जानते हैं। इन लोगों को बस एक ही आदेश दिया गया है कि, हमारे इतिहास, हमारे देश और हम सभी को नष्ट कर दें।

यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय का कहना है कि 24 फरवरी से 2 मार्च तक लड़ाई के पिछले छह दिनों में 211 रूसी टैंक नष्ट हो गए हैं, साथ ही 862 बख्तरबंद निजी वाहन, 85 तोपखाने और 40 एमएलआरएस भी नष्ट हो गए हैं। इस युद्ध में रूस को भी भारी नुकसान हुआ है। 

Advertisement

मंत्रालय ने कहा कि 30 रूसी विमानों और 31 हेलीकॉप्टरों को मार गिराया गया है। इसके अलावा, दो जहाज, 335 वाहन, 9 एंटी-एयरक्राफ्ट भी नष्ट हो गए। इससे पता चलता है कि यूक्रेन की सेना रूस को कड़ी टक्कर दे रही है।

रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध के कारण बड़ी संख्या में लोग यूक्रेन छोड़कर भाग गए हैं। लेकिन कई रूस की कार्रवाई का जवाब देने के लिए यूक्रेन में रुके हुए हैं। कुछ यूक्रेन छोड़कर पूर्वी हंगरी चले गए हैं। यहां एक गांव के स्कूल के मैदान में इकट्ठा हुए सैकड़ों शरणार्थियों में ज्यादातर महिलाएं और बच्चे हैं।

Advertisement

कहा जाता है कि उनके पति, पिता, भाई और पुत्र यूक्रेन में अपने देश की रक्षा करने और रूसी सैनिकों का सामना करने के लिए रुके थे। संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी के अनुसार, अब तक 675,000 से अधिक लोगों ने पड़ोसी देशों में शरण ली है और यह संख्या और बढ़ सकती है।

Advertisement