SpreadIt News | Digital Newspaper

यूक्रेन में स्थित भारतियों को सख्त सलाह,अगर यह काम नहीं किया तो जा सकती है जान

यूक्रेन में स्थित भारतियों को सख्त सलाह,अगर यह काम नहीं किया तो जा सकती है जान

कीव: रूस के हमले  से यूक्रेन की राजधानी कीव में हालात बिगड़ते जा रहे हैं।  इस बीच वहां फंसे भारतीयों को भारतीय दूतावास ने सख्त सलाह दी है। इसमें कहा गया है कि सभी भारतीय नागरिकों और छात्रों को आज कीव छोड़ देना चाहिए । यूक्रेन में भारतीय दूतावास ने भारतियों को ट्रेन या परिवहन के किसी भी माध्यम से तुरंत कीव छोड़ने के लिए कहा है। माना जा रहा है कि रूस यूक्रेन में बड़े हमले की तैयारी कर रहा है।

Advertisement

कुछ सैटेलाइट तस्वीरें सामने आई हैं। पता चला है कि यूक्रेन की सड़कों पर रूसी सैनिकों का लंबा काफिला मौजूद है।  यह रूसी आक्रमण के बाद से यूक्रेन भेजा गया सबसे लंबा सैन्य काफिला है।  इससे यह आशंका बढ़ गई है कि रूस कोई बड़ा हमला कर सकता है। इससे पहले कीव पर बड़े हमले नाकाम किए जा चुके हैं। ऐसे में अब संभव है कि रूसी सेना कोई बड़ा हमला कर सकती है।

रूस के यूक्रेन पर आक्रमण के बाद युद्धग्रस्त देश के हवाई क्षेत्र को बंद करने के कारण भारत रोमानिया, हंगरी, पोलैंड और स्लोवाकिया के साथ यूक्रेन की सीमा चौकियों के माध्यम से अपने नागरिकों को निकाल रहा है।

Advertisement

सोमवार को यूक्रेन में भारतीय दूतावास ने छात्रों को राजधानी कीव रेलवे स्टेशन पर पहुंचने की सलाह दी ताकि वे युद्धग्रस्त देश के पश्चिमी हिस्सों की यात्रा कर सकें। विदेश मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि यूक्रेन में कठिन और जटिल भूमि की स्थिति के बावजूद, वह युद्धग्रस्त देश से प्रत्येक नागरिक को वापस लाएगा।

यूक्रेन में करीब 20,000 भारतीय मौजूद थे, जिनमें से ज्यादातर वहां मेडिसिन की पढ़ाई करने गए थे। इनमें से चार हजार से ज्यादा भारत लौट चुके हैं। बाकियों को भी भारत लाने की योजना बनाई जा रही है।

Advertisement

इसके लिए मोदी सरकार ने ‘ऑपरेशन गंगा’ शुरू की है। ऑपरेशन गंगा के तहत भारतीय नागरिकों को निकालने में तेजी लाई जाएगी। इसके लिए प्रधानमंत्री मोदी ने भारतीय वायुसेना को भी ऑपरेशन में शामिल होने को कहा है। वायुसेना के विमानों के जुड़ने से भारतीयों की स्वदेश वापसी की प्रक्रिया में तेजी आएगी और उनकी संख्या भी बढ़ेगी।

Advertisement