SpreadIt News | Digital Newspaper

राहुल बजाज का 83 वर्ष की उम्र में निधन; अपने पीछे छोड़ गए ‘इतने’ करोड़ की संपत्ति

मुंबई :

50 साल तक बजाज ग्रुप (Bajaj Group) के चेयरमैन रहे, देश के बड़े कारोबारी राहुल बजाज (Rahul Bajaj Died) नहीं रहे। शनिवार को 83 साल की उम्र में पुणे में उनका निधन हो गया। वह कैंसर से पीड़ित थे। जैसे ही यह खबर मिली, उद्योग जगत में शोक की लहर फैल गई। सोशल मीडिया पर उद्योग जगत की हस्तियां और नेता-मंत्री उनके योगदान को याद करते हुए श्रद्धांजलि दे रहे हैं। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने उन्हें समाजसेवी बताते हुए कहा कि पद्म भूषण से सम्मानित राहुल जी से उनके व्यक्तिगत संबंध रहे हैं।

Advertisement

राहुल बजाज स्वतंत्रता सेनानी जमनालाल बजाज के पोते थे। उनकी पढ़ाई दिल्ली के ही सेंट स्टीफेंस कॉलेज से हुई थी, उन्होंने लॉ की डिग्री हासिल करने के लिए वो मुंबई पहुंचे थे। राहुल के पिता कमलनयन और इंदिरा गांधी कुछ समय तक एक ही स्कूल में पढ़े थे। अपने पीछे 820 करोड़ की संपत्ति छोड गये।

राहुल बजाज ने पिछले साल अप्रैल में बजाय ऑटो के चेयरमैन पद से इस्तीफा दे दिया था। बजाज ऑटो भारतीय कारोबार खासकर ऑटोमोबाइल क्षेत्र में जानामाना नाम रहा है. इसकी टैगलाइन यू जस्ट कांट बीट ए बजाज रही।

Advertisement

उसके दोपहिया वाहन का ऐड हमारा बजाज भी काफी सुर्खियों में रहा। राहुल बजाज ने 1965 में बजाज ग्रुप की जिम्मेदारी संभाली थी। बजाज ग्रुप की ओर से साझा की गई जानकारी में कहा गया है कि बेहद दुख के साथ सूचित करना पड़ रहा है कि राहुल बजाज अब हमारे बीच नहीं रहे।

Advertisement