SpreadIt News | Digital Newspaper

महाराष्ट्र के कबाड़वाले ने सरकार को लगाया 200 करोड़ का चुना; देखिये, क्या है पुरा मामला

औरंगाबाद :

कबाड़वाला मतलब एक ऐसा इन्सान जो चेहरे पर उदासी लिये पैसे कमाता है। क्या आपने कभी ऐसा सुना है क्या? कबाड़वाले ने जोरो शोरो से कोई घर का इव्हेंट किया? किसी हॉटेल में पार्टी की? या फिर उसने कही बडा घर खरीद लिया?… ऐसा आपने कभी नही सुना होगा। क्यूंकी एक कबाड़वाला दिन का ज्यादा से ज्यादा कितना कमाता होगा? सौ रुपये, दौ सौ रुपये, ज्यादा से ज्यादा हजार रुपये…

Advertisement

लेकिन एक कबाड़वाला ऐसा भी है जिसने सरकार को चुना लगा कर करोड़ों रुपये कमाए है। एक कबाड़वाला करोड़पति हो सकता है, हाँ यह सही है। क्योंकि ऐसेही एक करोड़पति कबाड़वाले की गिरफ्तारी के बाद बड़ा बवाल मच गया। यह कबाड़वाला औरंगाबाद का रहने वाला है और उसने दिल्ली सरकार से 200 करोड़ रुपये का चुना लगाया है।

उसने यह धोखाधड़ी जीएसटी इनपुट क्रेडिट के जरिए की है। यह कबाड़ कारोबारी बिना कबाड़ बेचे फर्जी बिल बनाता था। इस करोड़पति कबाड़वाले का नाम समीर मलिक है। समीर ने फर्जी बिल बनाकर जीएसटी इनपुट टैक्स क्रेडिट के जरिए 200 करोड़ रुपये कमाए और फर्जी बिल के आधार पर औरंगाबाद में 15 कबाड़ डीलरों के साथ डील की।

Advertisement

उसने फर्जी कंपनियों के नाम पर करोड रुपयो के फर्जी बिल बनाए। इसमें से करीब 10 करोड़ रुपये के बिल औरंगाबाद के एक व्यापारी को भेजे गए। हालांकि खुलासा हुआ है कि शहर के 15 कारोबारियों को ऐसे बिल भेजे जा चुके हैं। अब इस मामले में औरंगाबाद के 15 कबाड़ डीलर जीएसटी विभाग के रडार पर हैं। कहा जाता है कि इस घोटाले का दायरा दुसरे राज्य में भी है।

Advertisement