SpreadIt News | Digital Newspaper

Hindustani Bhau: ‘हिंदुस्तानी भाऊ’ को और एक झटका; देखो, क्या है मामला

मुंबई :

धारावी में छात्रों को आंदोलन करने के लिए उकसाने के आरोप में गिरफ्तार विकास फाटक उर्फ हिन्दुस्तानी भाऊ और इकरार खान को अदालत ने 4 फरवरी तक पुलिस हिरासत में भेज दिया था। हालांकि विकास फाटक ने जो भी हुआ उसके लिए बिना शर्त माफी भी मांगी और नुकसान भरपाई करने के लिए भी तैयार हैं, लेकिन पुलिस ने मामले में फंडिंग की जांच के लिए पुलिस हिरासत की मांग की, जिसे अदालत ने मान लिया था।

Advertisement

जेल में बंद विकास फाटक ऊर्फ हिंदुस्तानी भाऊ को कोर्ट से और एक झटका लगा है। अभी उन्हें जेल में ही रहना होगा, बांद्रा कोर्ट ने फिलहाल विकास को जमानत देने से इंकार कर दिया है।

विकास पर आईपीसी की धारा 353, 332, 427, 109, 114, 143,146, 147, 149 और दंगे भड़काने सहित आईपीसी की धारा 188, 269, 270 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

Advertisement

जानिए क्या है पूरा मामला :- बता दें कि महाराष्ट्र में सोमवार को छात्रों ने 10वीं और 12वीं की ऑफलाइन परीक्षा रद्द करने की मांग को लेकर उग्र विरोध प्रदर्शन किया। छात्र ऑनलाइन परीक्षा कराए जाने की मांग कर रहे थे। हजारों छात्रों ने शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ के घर के बाहर विरोध प्रदर्शन किया। मंत्री के घर के बाहर से छात्रों को हटाने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा था।

विकास के वकील महेश मुले ने शनिवार को बताया था कि उन्होंने कोर्ट में जमानत के लिए याचिका लगाई थी जिसे लेकर मंगलवार को सुनवाई होनी थी। लेकिन आज हुई सुनवाई में कोर्ट ने विकास की जमानत याचिका को ठुकरा दिया है। हालांकि अब विकास को जेल में ही रहना होगा।

Advertisement