SpreadIt News | Digital Newspaper

कोरोना से बचने के लिए इम्युनिटी बढ़ाने के चक्कर में हर्बल काढा या शराब पी रहे हो तो सावधान, हो सकती है मौत

नई दिल्ली: देश और दुनिया भर में इस समय कोरोना की तीसरी लहर चल रही है। कोरोना के  ओमाइक्रोन जैसे नए-नए और भी काई  वेरिएंट आते रहते हैं और जिससे लोगों की सेहत को खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है।

अब लोग इस खतरे से बचने के लिए अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं। हालांकि इम्युनिटी बढ़ाने की कोशिश लोग शराब पी रहे है और लगभग सभी घर के लोग हर्बल काढ़ा पी रहे है। हालाँकि इनका ज्यादा सेवन आपका लिवर ख़राब कर रहा है।

Advertisement

शराब से हो रहे नुकसान के बारे में जाने 

एक केस स्टडी से चौकाने वाली बात सामने आई है। कोरोना के डर से ज्यादा शराब पीने से लीवर खराब हो सकता है। एकबड़े अखबार में छपी रिपोर्ट के अनुसार, पिछले एक साल में ऐसे कई मामले सामने आए हैं जिनमें 40 प्रतिशत रोगियों का लीवर पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया है। अक्सर लीवर को इतना नुकसान होता है कि मामला लीवर ट्रांसप्लांट तक पहुंच जाता है। कुछ मामलों में मरीज की मौत भी हो जाती है।हर्बल काढ़े का सेवन करने के साइड इफेक्ट्स 

Advertisement

आयुष मंत्रालय के मुताबिक, देश में अब तक ऐसे 700 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। जिसमें हर्बल प्रोडक्ट्स के सेवन से साइड इफेक्ट पाए गए। ये सभी मामले फार्माकोविजिलेंस प्रोग्राम के तहत रिपोर्ट किए गए हैं।

भारत में हर्बल उत्पादों के 30,000 से अधिक ब्रांड हैं। लेकिन इसकी खपत औद्योगिक डेटा की कमी, सरकारी मान्यता की कमी और उत्पादन पर आगे के विनिर्देश की कमी के कारण लोगों को नुकसान पहुंचा रही है। इसके अलावा कई मामलों में जीवन रक्षक जड़ी-बूटियों के लिए राज्यों में लागू नियमों में विसंगतियों के कारण भी साइड इफेक्ट देखने को मिलते हैं।क्या घर में हर्बल उत्पादों का सेवन करना गलत है?आयुष मंत्रालय के सचिव वैद्य राजेश कोटेचा का कहना है कि संक्रमण से बचाव के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने की जरूरत है।  इसके लिए आयुष मंत्रालय की ओर से गाइडलाइंस जारी की गई है। लेकिन सोशल मीडिया पर या फिर घर बैठे रिश्तेदारों के कहने पर बिना डॉक्टर की सलाह के हर्बल उत्पादों पर भरोसा करना भूल है। इसके लिए लोगों को जागरूक होने की जरूरत है।

Advertisement