SpreadIt News | Digital Newspaper

टीम इंडिया में ‘इन’ दो अनुभवी स्टार खिलाडियों की जगह खतरे में, दीपक हुड्डा और बिश्नोई के चुने जाने से है परेशान

क्रिकेट: शास्त्री-कोहली इस जोड़ी के हटने के बाद अब टीम इंडिया के नए कप्तान रोहित शर्मा और नए कोच राहुल द्रविड़ अब नई रणनतियाँ बना रहे है। इससे यह साफ़ है की हमें नजदीकी समय में टीम इंडिया में काफी बदलाव देखने को मिल सकते है। 

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हार कर भारत लौटी टीम इंडिया अब अपने  घर में वेस्टइंडीज के खिलाफ क्रिकेट खेलने वाली है। यह सीरीज 6 फरवरी से शुरू होने वाली है। इस सीरीज के लिए BCCI ने टीम का ऐलान कर दिया है। लेकिन इस चयन प्रक्रिया से टीम में के कुछ अनुभवी खिलाड़ी अब तनाव में है। जानिए आखिर क्या है तनाव की वजह?

Advertisement

रोहित-राहुल की रणनीति?

टीम इंडिया की कमान अब रोहित शर्मा ुर राहुल द्रविड़ के हाथों में आ चुकी है। अब वो दोनों टीम इंडिया की रणनीति बना रहे है। उनके  से साफ़ पता चलता है कि अब टीम में रहना है तो अपना प्रदर्शन सुधारना होगा।

राहुल द्रविड़ युवा टैलेंट पर काफी विश्वास रखते है इस वजह से उन्होंने वेस्ट-इंडीज के खिलाफ रणदीप हुड्डा और रवि बिश्नोई को टीम में जगह दी है। इसका मतलब इन दो खिलाडियों के चयन का सीधा असर श्रेयस अय्यर एयर युजवेंद्र चहल इन दिग्गजों पर होगा। क्योंकि इन  दोनों नए खिलाडियों को टीम इंडिया में उनका विकल्प माना जा रहा है।  इस वजह से श्रेयस अय्यर और चहल तनाव में हो सकते है।

Advertisement

दीपक हुड्डा को वनडे टीम में शामिल करने से श्रेयस अय्यर पर सीधा दबाव पड़ेगा और बिश्नोई के आने से युजवेंद्र चहल पर अच्छा प्रदर्शन करने का दबाव बनेगा। 

क्या दीपक लेंगे श्रेयस की जगह ?

साउथ अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज में टीम इंडिया ने श्रेयस अय्यर को 5वें नंबर पर बल्लेबाजी की. एक बल्लेबाज के तौर पर वह तीनों मैचों में फ्लॉप रहे। सभी जानते हैं कि अय्यर के अंदर प्रतिभा है, लेकिन टीम इंडिया अपने पांचवें नंबर के बल्लेबाज से कुछ और उम्मीद कर रही है। 

Advertisement

जाहिर है टीम इंडिया अपने मध्यक्रम में कुछ ऐसे खिलाड़ी रखना चाहती है जो जरूरत पड़ने पर गेंदबाजी भी कर सकें। और इसीलिए दीपक हुड्डा को वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए चुना गया है, जो गेंदबाजी भी कर सकते हैं। दीपक हुड्डा नियमित गेंदबाज नहीं हैं लेकिन जरूरत पड़ने पर गेंद फेंक सकते हैं। साथ ही वह नंबर 4 से लेकर नंबर 7 तक किसी भी क्रम में बल्लेबाजी कर सकते हैं। 

युजवेंद्र चहल और रवि बिश्नोई 

युजवेंद्र चहल भी टीम इंडिया के सेटअप का हिस्सा हैं। दक्षिण अफ्रीका दौरे में उनका प्रदर्शन औसत रहा। चहल जिस तरह से विकेट लेते थे वह स्तर अब काफी नीचे आ गया है, इसीलिए टीम इंडिया ने अब रवि बिश्नोई को टीम में शामिल किया है।  वह एक बेहतरीन फील्डर भी हैं। टीम इंडिया में रवि बिश्नोई की एंट्री कहीं न कहीं चहल के लिए खतरे की घंटी की तरह है। 

Advertisement