SpreadIt News | Digital Newspaper

पीएमसी बैंक को लेकर बड़ी खबर; पढ़ें, केंद्र सरकारने क्या लिया अहम फैसला

नई दिल्ली :

वित्तीय घोटालों के कारण पिछले तीन साल से सुर्खियों में रहे पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक (पीएमसी) का पुनर्वास का मार्ग आखिरकार साफ हो गया है। 25 जनवरी 2022 को केंद्र सरकारने पीएमसी बँक का युनिटी स्मॉल फायनान्स बँके में विलय को मंजूरी दी। इससे अब पीएमसी बैंक की शाखाएं यूएसएफबीएल की शाखाओं के रूप में काम करेंगी।

Advertisement

रिजर्व बैंक ने मंगलवार को यह जानकारी दी। केंद्रीय बैंक ने कहा कि पीएमसी बैंक की शाखाओं ने मंगलवार से यूएसएफबीएल की शाखाओं के रूप में काम करना शुरू कर दिया है। करीब दो साल पहले वित्तीय अनियमितता का मामला सामने आने के बाद रिजर्व बैंक ने पीएमसी बैंक के बोर्ड को भंग कर दिया था।

सरकार ने मंगलवार को विलय की योजना को मंजूरी देते हुए अधिसूचित कर दिया। यूएसएफबीएल बैंक इसके तहत पीएमसी बैंक की संपत्तियों और देनदारियों के साथ जमाओं का अधिग्रहण करेगा।

Advertisement

क्या था घोटाला :-

PMC बैंक में फर्जी खातों के जरिए एक डेवलपर को 6500 करोड़ रुपए का कर्ज दिया गया था. इस घोटाले की जानकारी ​साल 2019 में रिजर्व बैंक को लगी थी। रिजर्व बैंक ने सितंबर 2019 में बैंक पर कड़े प्रतिबंध लगा दिए थे। 23 सितंबर 2019 से RBI का मोरेटोरियम लगा है। इसके तहत बैंक के जमाकर्ताओं पर निकासी प्रतिबंध लगा। RBI ने PMC बैंक के बोर्ड को भंग कर दिया था।

Advertisement