SpreadIt News | Digital Newspaper

लगातार छठे दिन ढहा बाजार; सेंसेक्स में 1000 अंक की गिरावट; जानिये कितने कोटी हो गये बरबाद

नई दिल्ली :

कोरोना की तीसरी लहर, जनवरी डील, आगामी बजट, आखात में उतार-चढ़ाव, फेडरल रिजर्व की नीति और बढ़ती महंगाई इन सभी ने शेअर मार्केट में नकारात्मक धारणा में योगदान दिया है। आज लगातार छठे दिन गिरावट हुई है। मंगलवार को शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 1,000 अंक टूट गया। कुछ ही मिनटों में निवेशकों को 3 लाख करोड़ रुपये का झटका लगा।

Advertisement

शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 905.16 अंक या 1.57 प्रतिशत की गिरावट के साथ 56,586.35 पर कारोबार कर रहा था। इसी तरह निफ्टी 253.80 अंक या 1.48 फीसदी गिरकर 16,895.30 पर आ गया।

बाजार में गिरावट की एक वजह बजट में एलटीसीजी पर टैक्स रेट को बढ़ाए जाने की आशंका है। आशंका यह जताई जा रही है कि एलटीसीजी पर टैक्स रेट 10 फीसदी से बढ़ाकर 15 फीसदी किया जा सकता है जिसके चलते विदेशी निवेशक पैसे वापस खींच रहे। आईटी शेयरों में तेज बिकवाली दिख रही है।

Advertisement

शेयर बाजार के अस्था ई आंकड़ों के मुताबिक विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने सोमवार को सकल आधार पर 3,751.58 करोड़ रुपये के शेयर बेचे।

पिछले हफ्ते से शेअर बाजार में उतार-चढ़ाव बना हुआ है। वित्तीय अनिश्चितता और फेडरल की संभाव्य ब्याज दरों में बढ़ोतरी का निवेशकों की धारणा पर बड़ा प्रभाव पड़ा है। विदेशी निवेशकों द्वारा निवेश निकाला गया है। बाजार खुलने के बाद से सेंसेक्स के 30 में से 26 शेयरों में गिरावट आई है। एनटीपीसी, इंडसइंड बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एसबीआई, रिलायंस, एचडीएफसी, एलएंडटी, इंफोसिस और टीसीएस के शेयरों में गिरावट आई।

Advertisement