SpreadIt News | Digital Newspaper

‘इस’ फसल से किसान बना करोड़पति, लॉकडाउन में हुआ 80 लाख का मुनाफा

उस्मानाबाद :

आज तक कई किसानों ने दिखाया है कि, अगर आप कड़ी मेहनत और स्मार्ट तरीके से खेती करते हैं, तो आप सफल हो सकते हैं। महाराष्ट्र में बहुत से किसान नए तरीकों से नई फसल की खेती कर रहे हैं। महाराष्ट्र में किसानों की कई सफलता की कहानियां हमेशा प्रकाशित होती रहती हैं।

Advertisement

लॉकडाउन में जहां सब कुछ संकट में था, वहीं कृषि क्षेत्र बच गया। और ऐसे ही लॉकडाउन के दौरान एक किसान ने स्मार्ट तरीके से खेती कर के लाखों रुपये कमाए हैं।महाराष्ट्र के उस्मानाबाद जिले में शिराढोणगांव के युवा किसान सुभाष मकोडे टमाटर की कमाई से करोड़पति बन गए हैं।

टमाटर से कोई किसान इतने पैसे कमा सकता है? ये आशंका हमारे मन में भी थी लेकीन हमें गलत ठहराकर सुभाषने एक सफल किसान कितने पैसे कमा सकता है, ये दिखा दिया हैं। लॉकडाउन के कारण सुभाष की दवा की दुकान चरमरा गई। फिर उसने पहली बार कोशिश की कि, वह खाली हाथ बैठ्ने की बजाय खेती करे और और पहली कोशिश में सुभाष सफलता के एक बड़े मुकाम पर पहुंच गया है।

Advertisement

मार्च के पहले लाँकडाऊन में आर्यमान किस्म की टमाटर को लगाया। प्रति एकड़ साढ़े पांच हजार पौधे लगाए गए, बारह एकड़ में कुल 72 हजार पौधे लगाए गए। पहली बार खर्चा निकल गया और सुभाष को कॉन्फीडन्स आया।

उसने फिर एक बार मल्चिंग पेपर से 72 हजार पौधे रोपे गए।सही प्लानिंग और लगन से सुभाष मकोड़े ने चार महीने में 1 करोड़ रुपये कमाए। उन्होंने इसके लिए 20/22 लाख रुपये खर्च किए और मुनाफा 80 लाख रुपये है।उन्होंने टमाटर को बिक्री के लिए बैंगलोर, अहमदाबाद, सूरत, मुंबई, गुलबर्गा, केरल, आंध्र प्रदेश भेजा।

Advertisement

माल 900/1200 रुपये प्रति कॅरेट के हिसाब से बेचा गया। चार महीने में 15,000 कॅरेट टमाटर की कटाई हो चुकी है। इतना ही नहीं सुभाष मकोड़े ने अपने खेती में 40 महिलाओं और 3 पुरुषों को डेली रोजगार प्रदान किया है।

Advertisement