SpreadIt News | Digital Newspaper

‘ऐसे’ करोगे तो बंद होगी वाइन शॉप्स, महाराष्ट्र के स्वास्थ मंत्री ने दी चेतावनी

मुंबई: महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमितों की बढ़ती संख्या को देखते हुए राज्य सरकार ने शनिवार को नए नियमों की घोषणा की। इसके तहत रविवार रात (9 जनवरी) से प्रदेश में नए कोरोला नियम-कानून लागू कर दिए गए हैं। इन नए नियमों के तहत 15 फरवरी तक स्कूल-कॉलेज बंद रखे गए हैं। साथ ही और नए प्रतिबंध लगाए गए। लेकिन नए नियमों में शराब की दुकानों, मंदिरों या पूजा स्थलों का जिक्र नहीं है।

इस संबंध में रयत क्रांति संगठन से जुड़े विधायक सदाभाऊ खोत ने रविवार को राज्य में ‘क्लास’ बंद है लेकिन ‘ग्लास’ शुरू है, कहकर सरकार का मजाक उड़ाया था। हाल ही में शराब पर टैक्स में कटौती को लेकर सरकार निशाने पर आ गई है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने आखिरकार बढ़ती आलोचना के बाद अपना मुंह खोला। उन्होंने कहा कि अगर भीड़ बढ़ती रही तो राज्य में मंदिर और शराब की दुकानें दोनों बंद हो जाएंगी।

Advertisement

संक्रमण बढ़ा तो ‘क्लास ‘ बंद होंगे और भीड़ बढ़ गई तो ‘ग्लास’ बंद होंगे

स्वास्थ्य मंत्री स्थानीय पत्रकारों से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा, ‘फिलहाल लॉकडाउन की कोई जरूरत नहीं है। लेकिन अगर लोग कोरोना के नियमों का पालन नहीं करेंगे और भीड़ बढ़ती रहेगी तो शराब की दुकानों को बंद करना पड़ेगा।’

Advertisement

भीड़ बढ़ती रही तो मंदिर बंद 
राजेश टोपे ने कहा कि अगर भीड़ बढ़ती रही तो शराब की दुकानों को भी बंद करने का फैसला लेनाप ड़ेगा। साथ ही अगर धार्मिक स्थलों पर भीड़ बढ़ रही है तो जरुरी फैसला लिया जाएगा। इसलिए फिलहाल प्रतिबंधों को कड़ा करने की जरूरत नहीं है। लेकिन अगर आगे हालात बदले तो फैसले भी बदलेंगे, क्योंकि भीड़ बढ़ती रही तो कोरोना पर काबू पाना मुश्किल हो जाएगा।

Advertisement