SpreadIt News | Digital Newspaper

5 राज्यों के विधानसभा चुनाव की तारीख का हुआ ऐलान, लेकिन चुनाव आयोग ने दिए सख्त निर्देश

नई दिल्ली: भारतीय चुनाव आयोग ने आखिरकार ५ राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव की तिथी ऐलान कर दिया है। गोवा, मणिपुर, पंजाब, उत्तप्रदेश और उत्तराखंड इन ५ राज्यों में यह चुनाव होने वाले है। चुनाव आयोग ने यह स्पष्ट किया है कि इन राज्यों में चुनाव २ चरण में किए जाएंगे। इसमें मणिपुर राज्य का विधानसभा २ चरण में होगा, वही अन्य राज्यों का चुनाव एक-चरण में होगा। चुनाव का पहला चरण १० फरवरी और आखरी चरण ७ मार्च को है।

कोरोना महामारी के मद्देनजर सख्त दिशानिर्देश 

Advertisement

२०२२ के यह चुनाव कोरोना महामारी के तीसरे लहर के खतरे के बिच होने वाले है। इस वजह से लोगों की सुरक्षा को देखते हुए चुनाव आयोग ने कुछ सख्त निर्णय लिए है। इस बार चुनाव के दौरान कोई भी रैली नहीं होगी। जी हां आपने बिलकुल सही पढ़ा। भीड़ से कोरोना का फैलाव काफी तेज होगा, इसे रोकने के लिए कोई भी राजनैतिक दल चुनावी रैली नहीं करेगा ऐसे निर्देश चुनाव आयोग ने दिए है।

प्रचार पद्धती में बदलाव 

Advertisement

चुनाव आयोग द्वारा 5 राज्यों में रोड शो, रैलियों, जुलूसों आदि चुनावी प्रचार पद्धतियों पर 15 जनवरी तक रोक लगा दी गई है। इस बार मतदान के समय को 1 घंटे के लिए बढ़ा दिया गया है। उम्मीदवारों द्वारा घर-घर प्रचार के लिए अधिकतम 5 लोगों की सीमा निर्धारित की गई है और सभी राजनीतिक दलों को महामारी के दौरान डिजिटल प्रचार पर अधिक जोर देने की सलाह दी गई है।

ऐसे होगी आवेदन प्रक्रिया और मतदान प्रक्रिया

Advertisement

चुनाव आयोग ने कोरोना महामारी के दुआरण होने वाले इस चुनाव के लिए बुजुर्गों का काफी खयाल रखा है। ८० वर्ष से ज्यादा आयु के बुजुर्गों के लिए और विकलांगो के लिए विशेष डाक मतपत्र की व्यवस्था की है। मतदान दल के 2 स्टाफ सदस्य, एक वीडियोग्राफर और एक सुरक्षा गार्ड मतदाता के घर का दौरा करेंगे।

उम्मीदवारों के लिए ऑनलाइन आवेदन करने की भी व्यवस्था की गई है ताकि उन्हें किसी कार्यालय में न जाना पड़े। इस से उम्मीदवार के साथ आने वाली भीड़ को रोका जा सकता है।

Advertisement