SpreadIt News | Digital Newspaper

महाराष्ट्र: ओमिक्रॉन के डर से अकोला में धारा 144 लागू, जारी किए कड़े प्रतिबंध

अकोला: दुनियाभर में तबाही मचा रहे कोरोना के नए वेरिएंट ओमाइक्रोन ने कर्नाटक, गुजरात, महाराष्ट्र और दिल्ली में भी अपनी मौजूदगी जाहिर की है। देश भर में अब तक पांच ओमाइक्रोन मामलों की पुष्टि हुई है। मुंबई के पास डोंबिवली के एक 33 वर्षीय ओमिक्रॉन के संक्रमित होने की सूचना मिली थी। इसके बाद महाराष्ट्र का प्रशासन सतर्क हो गया है। ओमिक्रॉन की आशंका के बाद महाराष्ट्र के अकोला जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है। साथ ही रैलियों, मोर्चों, आंदोलनों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

गौरतलब है कि डोंबिवली का रहने वाले एक 33 वर्षीय युवक केप टाउन से दुबई होते हुए दिल्ली और फिर दिल्ली से मुंबई आए थे। 23 नवंबर को मुंबई पहुंचने के बाद वह अपने घर डोंबिवली चले गए। बाद में वे ओमाइक्रोन पॉजिटिव पाए गए।

Advertisement

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने लोगों को न घबराने की सलाह दी। उन्होंने कहा,संबंधित मरीजों में हल्के लक्षणों से बेवजह घबराएं नहीं और उन्होंने ने कोरोना नियमों का सावधानीपूर्वक पालन करने की अपील की। 

अकोला में धारा 144 लागू

Advertisement

ओमाइक्रोन का पहला मामला दर्ज होते ही महाराष्ट्र में प्रशासन की ओर से कई तरह की सावधानियां और सतर्कता बरतीजा रही यही। इन उपायों के तहत अकोला की जिलाधिकारी नीमा अरोड़ा ने जिले में 144 लागू कर दिया है। यह आदेश 5 दिसंबर से लागू है। जिलाधिकारी ने 4 दिसंबर को अपना आदेश जारी किया है।

रैलियों, मोर्चों, आवाजाही पर प्रतिबंध

Advertisement

5 दिसंबर की मध्यरात्रि से अगले आदेश तक अकोला जिले में कोई रैली, धरना, आंदोलन, मोर्चा आदि आयोजित नहीं किया जाएगा। हालांकि, इस दौरान जिले में नियमित रूप से कोरोनावायरस टीकाकरण जारी रहेगा। जिलाधिकारी के आदेश में धारा 144 का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की घोषणा की गई है। 

डेल्टा वैरिएंट से पांच गुना खतरनाक 

Advertisement

ओमाइक्रोन को लेकर इतने सतर्क रहने की वजह काफी साफ़ है। कोरोना का यह नया संस्करण डेल्टा के पिछले संस्करण की तुलना में पांच से सात गुना तेजी से फैलता है। इसीलिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुख्य विशेषज्ञ डॉ. सौम्या स्वामीनाथन का मानना ​​है कि यह जल्द ही दुनिया भर में फ़ैल सकता है। 

Advertisement