SpreadIt News | Digital Newspaper

महाराष्ट्र में बढ़ा ओमीक्रॉन का खतरा, विदेश आए सभी लोगों के लिए ७ दिन क्वारंटाइन अनिवार्य

मुंबई: कोरोना वायरस के नए वेरियंट ‘ओमाइक्रोन वेरियंट’ के फैलने को लेकर दुनिया में अफरातफरी का माहौल है। भारत भी कोरोना वायरस के इस नए वेरियंट को लेकर सावधान है। इस संबंध में अतिरिक्त सतर्कता बरतते हुए महाराष्ट्र ने देश के बाहर से आने वाले यात्रियों के लिए अलग-अलग तरीकों से जांच तेज कर दी है।

विशेष रूप से, महाराष्ट्र सरकार ने वायरस से प्रभावित देशों के पर्यटकों की जांच तेज कर दी है। महाराष्ट्र सरकार प्रभावित देशों के पर्यटकों की 2-3 अलग-अलग तरीकों से जांच कर रही है। सरकार ने यात्रियों के लिए RT-PCR टेस्ट अनिवार्य कर दिया है। साथ ही यात्रियों को सात दिनों तक क्वारंटाइन में रहना होगा। सात दिन बाद फिर से आरटी-पीसीआर जांच अनिवार्य होगी।

Advertisement

मुंबई के मेयर ने किया एयरपोर्ट का निरीक्षण

मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर को मुंबई हवाई अड्डे पर कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन रूप के खिलाफ ली गई अतिरिक्त सावधता से अवगत कराया गया। इस बीच उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि अधिकारियों ने मुझसे कहा है कि वे विदेश से आने वाले हर यात्री की जांच करें और उन्हें क्वारंटाइन के लिए भेजरहे है। मेयर किशोरी पेडनेकर ने कहा कि मुंबई में अभी तक ओमाइक्रोन का कोई मामला सामने नहीं आया है।

Advertisement

मुंबई में 536 नए मामले सामने

पिछले 24 घंटों में 853 मरीजों के संक्रमण से उबरने की पुष्टि हुई है, जिससे संक्रमण मुक्त लोगों की कुल संख्या 64,82,493 हो गई है। महाराष्ट्र में कोरोना का इलाज कराने वाले मरीजों की संख्या बढ़कर 7,458 हो गई है। संक्रमण से ठीक होने की दर बढ़कर 97.70 प्रतिशत हो गई है जबकि मृत्यु दर 2.12 प्रतिशत है।

Advertisement