SpreadIt News | Digital Newspaper

क्राइम ब्रांच ऑफिस में परमबीर सिंह से 6 घंटो तक पूछताछ, उनके खिलाफ दर्ज है 5 केस

मुंबई : शहर के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह गुरुवार को अपराध शाखा कार्यालय में पूछताछ के लिए पहुंचे थे। इस दौरान परमबीर सिंह से 6 घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की गई। जानकारी के अनुसार गोरेगांव में दर्ज वसूली मामले में डीएसपी नीलोत्पल और उनकी टीम ने उनसे पूछताछ की है। मामले में सिंह के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया था और कुछ दिन पहले उन्हें भगोड़ा भी घोषित किया गया था।

परमबीर सिंह के वकील राजेंद्र मोकाशी ने कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद हम जांच में पूरा सहयोग कर रहे हैं। आज वे पुलिस के सामने पेश हुए और पुलिस को सभी सवालों के जवाब मिल गए हैं। जहां जरूरी होगा हम जांच में पूरा सहयोग करेंगे। अन्य मामलों में भी पूरा सहयोग दिया जाएगा।’

Advertisement

“मैं चंडीगढ़ में हूं।”

परमबीर सिंह ने बुधवार को उनके ठिकाने के बारे में बताया था। उन्होंने कहा था कि वह चंडीगढ़ में हैं।  इससे पहले, शीर्ष अदालत ने अगर जांच में सहयोग करने की शर्त पर उनकी गिरफ़्तारी पर रोक लगा दी थी।

इस बीच, उनके वकील ने अदालत को बताया कि परमबीर सिंह को पूरे मामले में फंसाया जा रहा है। उन्होंने जिन अधिकारियों को भ्रष्टाचार के लिए दंडित किया है, वे आज अभियोजक बन गए हैं। अदालत में उनके वकील ने यह भी कहा कि मुंबई में परमबीर की जान को खतरा है, इसलिए वह शहर से बाहर थे। उनके खिलाफ अब तक 5 मामले दर्ज किए जा चुके हैं।

Advertisement

परमबीर के खिलाफ 5 मुकदमे दर्ज

राज्य सीआईडी ​​और ठाणे पुलिस ने परमबीर के खिलाफ लुक आउट सर्कुलर जारी किया है। सिंह के खिलाफ अब तक 5 मामले दर्ज किए गए हैं। इनमें से एक मामले की जांच मुंबई पुलिस कर रही है, एक मामले की जांच ठाणे पुलिस कर रही है और 3 मामलों की जांच स्टेट सीआईडी ​​कर रही है। बता दें कि सरकार के गृह विभाग ने परमबीर सिंह पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच के लिए 7 सदस्यीय एसआईटी टीम का गठन किया था। टीम का नेतृत्व डीएसपी स्तर का एक अधिकारी करता है।

Advertisement