SpreadIt News | Digital Newspaper

कृषि कानून: कांग्रेस मनाएगी ‘किसान विजय दिवस’, शनिवार को देशभर में रैली और कैंडल मार्च

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार सुबह राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने की घोषणा की। जिसे कांग्रेस ने न्याय की जीत बताया है। कांग्रेस इसे पूरे देश भर में उत्साह से मनाएगी। कांग्रेस शनिवार को देशभर में किसान विजय दिवस मनाने जा रही है और अलग-अलग जगहों पर रैलियां करेगी। 

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी विवादास्पद कृषि कानूनों को रद्द करने की घोषणा की है। इस निर्णय का न केवल किसान बल्कि कांग्रेस द्वारा भी स्वागत किया जा रहा है। कांग्रेस पहले से ही आंदोलनकारी किसानों का समर्थन कर रही थी, अब इस फैसले से कांग्रेस किसानों के साथ किसान विजय दिवस मनाएगी।

Advertisement

सामूहिक जीत हमारे देश के किसानों को समर्पित : कांग्रेस

राज्य इकाइयों को लिखे पत्र में, कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा, “किसानों के आंदोलन और बलिदान और कांग्रेस और राहुल गांधी के नेतृत्व वाले संयुक्त विपक्ष के लड़ाई के बाद इन तीन कानूनों को निरस्त किया जा रहा है।” “बुराई पर सामूहिक जीत हमारे देश के सभी किसानों को समर्पित है,” उन्होंने कहा।

प्रधानमंत्री ने की घोषणा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार सुबह राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की घोषणा की। उन्होंने कहा, “मैं आपको और पूरे देश को यह बताने आया हूं कि हमने तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने का फैसला किया है। हम इस महीने के अंत में शुरू हो रहे संसद सत्र में इन तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने की संवैधानिक प्रक्रिया को पूरा करेंगे।”

Advertisement

किसानों ने मनाया जश्न 

प्रधानमंत्री मोदी की घोषणा के बाद करीब एक साल से सिंधु सीमा पर डेरा डाले किसानों ने ट्रैक्टर पर लगे म्यूजिक सिस्टम की धुन पर डांस किया और खुशी-खुशी मिठाइयां बांटी।  हालांकि, प्रदर्शनकारियों ने जोर देकर कहा कि लड़ाई खत्म नहीं हुई है और विरोध स्थल, जो एक साल से उनका घर था, को खाली नहीं किया जाएगा। 

Advertisement