SpreadIt News | Digital Newspaper

बड़ी खबर: कोरोना वैक्सीन के साइड इफेक्ट, 10,000 लोगों ने मांगा मुआवजा

मेलबर्न: वैक्सीन को लेकर ऑस्ट्रेलियाई सरकार मुश्किल में! विशेषज्ञ पहले कह चुके हैं कि कोरोना वायरस से बचाव के लिए कोरोना का टीकाकरण जरूरी है। इसलिए ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने वायरस के प्रसार को रोकने के लिए कोविड टीकाकरण की दर बढ़ा दी थी।

इस बार सरकार को वैक्सीन के साइड इफेक्ट के लिए देश के नागरिकों को मुआवजा देना पड़ सकता है। ऑस्ट्रेलिया के एक प्रमुख अखबार सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड की एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि हजारों ऑस्ट्रेलियाई पहले ही मुआवजे के लिए आवेदन कर चुके हैं।

Advertisement

सरकार ने पहले ही मुआवजे का ऐलान किया था 

पता चला है कि अब तक कई लोगों ने कोरोना वैक्सीन के कारण अस्पताल में भर्ती होने की वजह से मुआवजे के लिए आवेदन किया है। अखबार ने दावा किया कि अब तक 10,000 लोगों ने मुआवजे के लिए आवेदन है। इससे पहले, सरकार ने कहा था कि अगर कोई वैक्सीन से बीमार पड़ जाता है, तो मुआवजे के रूप में उन्हें 5,000 डॉलर्स का भुगतान किया जाएगा।

Advertisement

६९,००० से ज्यादा लोग टिका लेने के बाद हुए बीमार 

फ़िलहाल यह अनुमान लगाया जा रहा है कि सरकार क्षतिपूर्ति के लिए कुल 38 करोड़ डॉलर्स खर्च करेगी। ऑस्ट्रेलियाई चिकित्सीय सामान प्रशासन को पहले ही टीकाकरण के कारण बीमारी की कुल 69, 000 रिपोर्ट प्राप्त हो चुकी है। बीमारियों की यह संख्या कोरोना टीके की 36 मिलियन डोज देने के बाद ही सामने आई।

Advertisement

अब तक नौ लोगों की मौत 

साइड इफेक्ट्स में हाथ दर्द, सिरदर्द, बुखार और ठंड लगना शामिल हैं। बताया जा रहा है कि इन सभी को फाइजर की कोरोना वैक्सीन के दी गयी थी।  एस्ट्राजेनेका वैक्सीन के साथ 160 रक्त के थक्कों (Blood Clots) की सूचना मिली है। टीजीए ने कहा कि टीकाकरण के बाद अब तक नौ लोगों की मौत हो चुकी है।

Advertisement