SpreadIt News | Digital Newspaper

क्या आपको पता है ताम्बे के बर्तन में पानी पिने से मधुमेह नियंत्रित होता है?

पुराने दिनों में दादा-दादी की रसोई का मुख्य आधार तांबे के व्यंजन थे। स्टील, प्लास्टिक या माइक्रोवेव प्रूफ व्यंजन तब लोकप्रिय नहीं थे। तांबे का उपयोग विशेष जल पात्र के रूप में अधिक किया जाता था। पूजा के अधिकांश औजार भी तांबे के बने होते हैं।

तांबे से शरीर को विशेष लाभ होता है। आजकल विशेषज्ञ बार-बार प्लास्टिक के खात्मे की बात कर रहे हैं। प्लास्टिक की बोतलों, जार, कंटेनरों से बचना बेहतर है। पिछले कुछ वर्षों में पानी के पात्र के रूप में तांबे का उपयोग बढ़ा है। 

Advertisement

वैज्ञानिक अध्ययनों से पता चला है कि तांबे में बैक्टीरिया को मारने की क्षमता होती है। पानी में कई तरह के बैक्टीरिया और वायरस होते हैं। तांबे में इन्हें नष्ट करने की शक्ति होती है। इसलिए तांबे के बर्तन में पानी भरकर पीना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इतना ही नहीं पानी में तांबे की मदद से आप मधुमेह को भी नियंत्रित कर सकते हैं।

कॉपर हमारे शरीर में आवश्यक खनिजों में से एक है। कॉपर हमारे शरीर में विभिन्न एंजाइमों की क्रिया को भी नियंत्रित करता है। शरीर स्वयं तांबा नहीं बना सकता। और इसलिए हमें अपने आहार में कुछ ऐसे खाद्य पदार्थों की आवश्यकता है जिनसे हम आवश्यकतानुसार तांबे की मांग को पूरा कर सकें।

Advertisement

कॉपर एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है। वहीं कॉपर हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। तांबे का पानी लाल रक्त कोशिकाओं की संख्या को बढ़ाने में भी मदद करता है। अगर आपको मधुमेह की समस्या है तो त्वचा पर भी झुर्रियां पड़ जाती हैं। त्वचा की इस समस्या को दूर करने के लिए तांबे का पानी बहुत फायदेमंद होता है।

तांबे के बर्तन में रखे पानी की पेट की समस्याओं और पाचन संबंधी समस्याओं को रोकने में अहम भूमिका होती है, और मधुमेह से बचाव के लिए पाचन क्रिया का सही होना बहुत जरूरी है। तांबा हमारे पाचन में मदद करता है और मधुमेह को रोकने में मदद करता है।

Advertisement

रात भर तांबे के बर्तन में एक गिलास पानी डाल दें। अगली सुबह खाली पेट पानी का सेवन करें। नियमित रूप से यह दोहराने से शरीर अच्छा रहेगा, पेट साफ रहेगा और ब्लड शुगर कंट्रोल में रहेगा। हालांकि इस तांबे के बर्तन में पानी पीने के अलावा जरूरी दवाएं लें और डॉक्टर की सभी सलाहों का पालन करें। और तांबे का पानी पीने से पहले आपको डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए।

Advertisement