SpreadIt News | Digital Newspaper

अरब सागर और बंगाल की खाड़ी में कम दबाव, केरल-कर्नाटक समेत सात राज्यों में भारी बारिश का अनुमान

मौसम : भारत में सर्दी लगभग आ चुकी है, फिर भी कई दक्षिणी राज्यों में भारी बारिश हो रही है। भरी बारिश की वजह से  केरल में भूस्खलन जैसी घटनाओं में अब तक दो बच्चों समेत पांच लोगों की मौत हो चुकी है।

इस बीच, कर्नाटक के दक्षिणी हिस्से में बेंगलुरु में भारी बारिश जारी है। भारतीय मौसम विभाग के अनुसार अगले पांच दिनों तक सात राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में भारी बारिश का अनुमान है।

Advertisement

भारतीय मौसम विभाग के ताजा बुलेटिन के मुताबिक , तमिलनाडु, कर्नाटक और केरल में अगले पांच दिनों तक भारी बारिश जारी रहेगी। इस बीच, गोवा, महाराष्ट्र और कोंकण में आंधी और बिजली गिरने की संभावना है। इस बीच, गोवा, महाराष्ट्र और कोंकण को ​​छोड़कर सात राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में तूफान और गरज के साथ बारिश का अनुमान है।

भारतीय मौसम विभाग बुलेटिन में यह भी कहा गया है कि पश्चिमी विक्षोभ के 18 नवंबर से भारत के उत्तर-पश्चिमी हिस्सों को प्रभावित करने की संभावना है। वर्तमान में भारत में दो कम दबाव वाले क्षेत्र और दो चक्रवाती परिसंचरण हैं।

Advertisement

दक्षिण-पूर्व में बंगाल की खाड़ी के ऊपर निम्न दबाव बना है। 18 नवंबर को इसके पश्चिम की ओर बढ़ने की और  दक्षिण आंध्र प्रदेश-उत्तरी तमिलनाडु के तट से सटे बंगाल की खाड़ी के दक्षिण-पश्चिम में पहुंचने की उम्मीद है।

जबकि पूर्व-मध्य अरब सागर में एक और निम्न दबाव बना है। आईएमडी बुलेटिन में कहा गया है कि कर्नाटक के तट से दूर अरब सागर में अगले 36 घंटों में निम्न दबाव पश्चिम-उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ने की संभावना है।

Advertisement

कम दबाव के साथ चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बन रहा है। जो दक्षिणपूर्वी बंगाल की खाड़ी और पूर्व मध्य अरब सागर में बने निम्न दबाव से जुड़ा है। इस स्थिति के चलते तमिलनाडु, कर्नाटक और केरल समेत अन्य राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में भारी बारिश जारी रहेगी।

Advertisement