SpreadIt News | Digital Newspaper

विराट कोहली की कमजोर मानसिकता भारतीय टीम के हार का कारण, कपिल देव का सनसनीखेज बयान

1983 वनडे विश्व कप जीतने वाली भारतीय टीम के कप्तान कपिल देव का कहना है कि खिलाडियों का बेहद ‘कमजोर’ रवैया भारत की टी20 वर्ल्ड कप में लगातार दो मैच हार का एक कारण है। । साथ ही उन्होंने सलाह दी है कि कोच रवि शास्त्री और मेंटर महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) को भारतीय टीम के खिलाड़ियों को फिर से वार्म अप करवाना चाहिए। 

कपिल के शब्दों में, ‘विराट कोहली जैसे बड़े खिलाड़ी बेहद कमजोर रवैये के साथ मैदान पर उतरे। हम अच्छी तरह जानते हैं कि वह टीम के लिए मैच जीतने के भूखे हैं। लेकिन अगर टीम की बॉडी लैंग्वेज और कप्तान की सोच ऐसी हो तो ड्रेसिंग रूम में खिलाड़ियों को आत्मविश्वास ऊँचा करना संभव नहीं है। मैं अपने करीबी दोस्त रवि शास्त्री से अपील करूंगा कि वह और धोनी टीम की उलझी हुई तस्वीर को बदलने की कोशिश करें। धोनी का काम खिलाड़ियों से बात करना और उनका आत्मविश्वास बहाल करना है।

Advertisement

अफगानिस्तान से टीम इंडिया का अगला मैच 

भारतीय टीम अगला मैच 3 नवंबर को अफगानिस्तान के खिलाफ खेलेगा। अगर भारत उस मैच को बड़े अंतर से नहीं जीत पाया तो बाहर सीधे टूर्नामेंट से बाहर हो जाएगा। और यहीं पर कपिल को लगता है कि अपने भविष्य के लिए किसी और टीम के नतीजों को देखना कभी अच्छा नहीं होता।

Advertisement

कपिल का तर्क है, “क्वालिफाई करने के लिए किसी अन्य टीम के प्रदर्शन पर भरोसा करना कभी अच्छा नहीं होता। अगर आप सेमीफाइनल में पहुंचना चाहते हैं, तो आपको अपनी योग्यता पर भरोसा करना होगा।”

अच्छा प्रदर्शन न करने वाले खिलाड़ियो के बिना आगे बढ़ाना होगा 

Advertisement

इसके साथ ही कपिल ने संकेत दिया है कि टीम के कुछ बड़े खिलाड़ियों को अतिरिक्त नजर रखने की जरूरत है। अगर वे प्रदर्शन नहीं कर सकते हैं, तो भारत को आगे देखना होगा। यानी हमें उनके बिना आगे बढ़ना है। कपिल के सीधे-सीधे शब्द, ‘जब भारतीय टीम अच्छा प्रदर्शन करती है, तो हर कोई उसकी सराहना करता है। लेकिन टीम में कई बड़े नामों के मामले में हालांकि चयनकर्ताओं को नजर रखनी होगी।”

Advertisement