SpreadIt News | Digital Newspaper

अगले सप्ताह दक्षिण भारत में भारी बारिश की संभावना, जानिए विस्तार से

नई दिल्ली: पिछले कुछ सालों से मौसम अपन रंग बदलता दिख रहा है। बेमौसम बारिश होना अब साधारण सी बात हो गई है। मौसम विभाग ने 30 अक्टूबर तक देश के दक्षिणी हिस्से में कई राज्यों में गरज के साथ भारी बारिश का अनुमान जताया है।इसका मतलब भले ही मानसून का मौसम समाप्त हो गया हो, बारिश का प्रभाव पूरे दक्षिण भारत में जारी रहेगा। इस बीच, उत्तर भारत में अगले सप्ताह से सर्दी शुरू हो जाएगी क्योंकि तापमान में गिरावट जारी है।

IMD ने जारी किया बयान 

Advertisement

मौसम विभाग (IMD) ने सोमवार को एक बयान में कहा, ”देश भर में बारिश धीरे-धीरे कम हुई है।  आज दक्षिण-पश्चिम मानसूनी हवाएं भी चलीं। लेकिन साथ ही उत्तर-पूर्वी मानसूनी हवाओं के प्रभाव से दक्षिण भारत के कई इलाकों में बारिश शुरू हो गई है।”

३१ अक्टूबर तक भारी बारिश की संभावना 

Advertisement

दक्षिण-पूर्वी बंगाल की खाड़ी में एक चक्रवात बन रहा है, जो बंगाल की खाड़ी के मध्य भाग में डिप्रेशन में बदल सकता है। पूर्व में भी, दक्षिण-पूर्वी अरब सागर से पूर्व-मध्य अरब सागर तक एक अवसाद बन गया है। इन दो दबावों के साथ, तमिलनाडु, पांडिचेरी, कराईकल, केरल,महाराष्ट्र, कर्नाटक के दक्षिणी हिस्सों और पूरे आंध्र तट पर बुधवार से 31 अक्टूबर तक बारिश होने की संभावना है।

आंध्र प्रदेश और रायलसीमा के अलावा अन्य क्षेत्रों में हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। कुछ जगहों पर गरज के साथ बारिश होने की भी संभावना है।

Advertisement

बाढ़ पीड़ित केरल में फिरसे भारी बारिश होने की उम्मीद 

केरल में बुधवार और गुरुवार को फिर से भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है। कई जिलों में ऑरेंज अलर्ट पहले ही जारी किया जा चुका है। मौसम विभाग ने कहा कि तमिलनाडु के अधिकांश हिस्सों में भी भारी बारिश की संभावना है।

Advertisement

चेन्नई मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, आज से रमणपुरम, बिरुधनगर, मदुरै, तूतीकोरिन, त्रिची, विल्लुपुरम, पांडिचेरी, सेलम, कन्याकुमारी और कोयंबटूर में भारी बारिश शुरू हो जाएगी। चेन्नई में भी आज हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। देश के दक्षिणी हिस्से में दक्षिणी कर्नाटक के दूरदराज के इलाकों में भारी से बहुत भारी बारिश की संभावना है। कर्नाटक के तटीय इलाकों में भी ऐसा ही मौसम रहेगा।

Advertisement