SpreadIt News | Digital Newspaper

अमरिंदर सिंह की राजनीति में वापसी, आज नई पार्टी के ऐलान की संभावना

चंडीगढ़: कैप्टन अमरिंदर सिंह आज अपने राजनीतिक जीवन में एक नया अध्याय शुरू कर सकते हैं। पंजाब के मुख्यमंत्री के रूप में उनके इस्तीफे के बाद, हर कोई उनके अगले राजनीतिक कदम की प्रतीक्षा कर रहा था। हालांकि, अमरिंदर सिंह ने कहा कि वह एक नई पार्टी शुरू करेंगे। सूत्रों के मुताबिक वह आज नई पार्टी का ऐलान कर सकते हैं।

पत्रकार परिषद लेकर कर सकते है ऐलान

Advertisement

अमरिंदर के करीबी सूत्रों के मुताबिक नई पार्टी का नाम पंजाब लोक कांग्रेस रखा गया है। उन्होंने आज चंडीगढ़ में प्रेस कांफ्रेंस बुलाई है, जहां वह नई पार्टी का ऐलान कर सकते हैं। अमरिंदर के मीडिया सलाहकार राबिन ठुकराल ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की घोषणा की और ट्वीट किया कि अमरिंदर सिंह के फेसबुक पेज से भी प्रेस कॉन्फ्रेंस का सीधा प्रसारण किया जाएगा।

अमरिंदर सिंह चार दशक से अधिक समय से कांग्रेस में हैं। वह पंजाब में कांग्रेस के बड़े चेहरों में से एक थे। लेकिन नवजोत सिंह सिद्धू के कांग्रेस में आने के बाद दोनों नेताओं के बीच घोर कलह शुरू हो गई। सिद्धू को प्रांतीय कांग्रेस अध्यक्ष का पद मिलने के तुरंत बाद, उनके करीबी विधायकों ने पार्टी पर अमरिंदर के इस्तीफे के लिए दबाव बनाना शुरू कर दिया। उन्होंने 16 सितंबर को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था।

Advertisement

मुख्यमंत्री के इस्तीफे के बाद कयास लगाए जा रहे थे कि वह कांग्रेस से भी नाता तोड़ लेंगे। पिछले महीने के अंत में उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ बैठक की थी। तभी से बीजेपी में शामिल होने की अटकलें लगने लगी थीं। हालांकि, उस अटकलों पर पानी डालते हुए अमरिंदर सिंह ने कहा कि उनको अपनी खुद की टीम बनाने में दिलचस्पी है।

भाजपा के साथ हात मिला सकते है कैप्टन

Advertisement

19 अक्टूबर को खुद अमरिंदर सिंह ने कहा था कि वह एक नई टीम शुरू करने जा रहे हैं। वह समान विचारधारा वाले दलों के साथ गठबंधन करने के इच्छुक हैं। यदि कृषि कानून और किसान आंदोलन का समाधान मिल जाता है तो वह आगामी विधानसभा चुनावों में भाजपा के साथ सीटें साझा करने पर भी सहमत हुए है।

भाजपा कर सकती है अमरिंदर सिंह की नई पार्टी का समर्थन

Advertisement

बीजेपी सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस पर दबाव बनाने के लिए बीजेपी अमरिंदर सिंह का समर्थन करेगी। इस बीच पता चला है कि अमरिंदर सिंह ने किसान आंदोलन का नेतृत्व कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा से भी बात की है। दूसरी ओर, कम से कम 12 कांग्रेस नेताओं ने कथित तौर पर अमरिंदर की घोषणा के बाद से नई पार्टी में शामिल होने में रुचि व्यक्त की है। आगामी विधानसभा चुनावों से पहले अमरिंदर की नई पार्टी की घोषणा पंजाब की राज्य की राजनीति को बदल सकती है। लेकिन नई पार्टी का सबसे ज्यादा असर कांग्रेस पर ही पड़ेगा।

Advertisement