SpreadIt News | Digital Newspaper

कोरोना महामारी घोषित होने के बाद महाराष्ट्र में सबसे कम कोरोना मामले, दिन भर में बस 899 नए मामले दर्ज

मुंबई : मार्च २०२० से देशभर में कोरोना ने तबाही मचाई है। कोरोना की दोनों लहरों के बीच महाराष्ट्र सबसे प्रभावित राज्य था। कोरोना की तीसरी लहार की आशंका के बीच महाराष्ट्र राज्य से एक बड़ी खबर सामने आ रही है।

मार्च २०२० से सबसे काम ने मामले दर्ज 

Advertisement

महाराष्ट्र ने सोमवार के दिन पिछले 24 घंटों में सिर्फ 899 नए कोविड -19 मामले दर्ज किए, जो पिछले साल मार्च में महामारी के बाद से सबसे कम है। कल राज्य में १२ लोगों को कोरोना की वजह से अपनी जान गंवानी पड़ी।  जिससे मामले की मृत्यु दर 2.12% हो गई।

कई जिलों में एक भी नया मरीज नहीं मिला 

Advertisement

राज्य के चौदह जिलों ने शून्य मामले दर्ज किए, और बारह जिलों ने १० से कम ने कोरोना मामले दर्ज किए गए। मुंबई, ठाणे, पुणे और रत्नागिरी को छोड़कर किसी भी जिले में कोई मौत दर्ज नहीं की गई।

महाराष्ट्र राज्य में कोरोना प्रतिबन्ध हटाए गए 

Advertisement

महाराष्ट्र सरकार ने पिछले हफ्ते राज्य भर में रेस्तरां और दुकानों का समय बढ़ाने का फैसला किया था । यह निर्णय मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और कोविड़ -19 टास्क फोर्स के बीच बैठक के बादलिया गया । इसके अलावा, मनोरंजन पार्क स्विमिंग पूल को छोड़कर खुलने के लिए तैयार हैं।  मुख्यमंत्री कार्यालय ने बयान जारी कर के यह जानकरी दी थी।

महाराष्ट्र सरकार ने पहले सिनेमा हॉल, ऑडिटोरियम और ड्रामा थिएटर के लिए मानक संचालन प्रक्रिया (SOP ) जारी की थी, जिससे उन्हें कुल क्षमता के आधे हिस्से पर काम करने की अनुमति मिली। हालाँकि, सामाजिक अंतर और अन्य COVID-19-संबंधित मानदंडों का पालन किया जाना चाहिए।

Advertisement

राज्य में नवरात्रि के पहले दिन से सभी धार्मिक स्थलों को भी 7 अक्टूबर को फिर से खोल दिया गया है। हालांकि, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने लोगों को बीमारी के प्रसार को रोकने के लिए कोविड -19 मानदंडों का सख्ती से पालन करने की चेतावनी दी थी।

Advertisement