SpreadIt News | Digital Newspaper

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का जल्द ही होगा विस्तार, जानिए महत्वपूर्ण मुद्दों के बारे में

केंद्र सरकार जल्द ही प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (PM-JAY) के दायरे का विस्तार कर रही है। नीतीश आयोग (स्वास्थ्य) के सदस्य डॉ वीके पॉल ने इस बात की जानकारी दी है।

उन्होंने कहा, राज्य सरकारों की पहल से योजना के विकास की कई संभावनाओं पर विचार किया जा रहा है। स्वास्थ्य क्षेत्र के बुनियादी ढांचे (Basic Infrastructure) को मजबूत करने का आह्वान किया। इसीके साथ उन्होंने बताया केंद्र सरकार स्वास्थ्य देखभाल पर अपना बजट बढ़ाएगी।

Advertisement

डॉ. पॉल ने स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के साथ-साथ नीति आयोग द्वारा आयोजित फिक्की हील 2021 के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए यह बात कही।

डॉ. पॉल ने जरूरतों के बारे में बताया

Advertisement

डॉ पॉल ने कहा कि सरकार पीएम-जय योजना में सुधार जारी रखेगी। जो कंपनियां अब तक इसका हिस्सा नहीं रही हैं, उन्हें भी इसके साथ साझेदारी करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि शेष अस्पतालों को पीएम-जय में शामिल करने का प्रयास किया जाना चाहिए। देश को क्रिटिकल मेडिसिन, इमरजेंसी मेडिसिन के क्षेत्र में विस्तार करने की जरूरत है। इसे और आगे ले जाने की जरूरत है। इसके लिए नेशनल नेटवर्क ऑफ एक्सीलेंट इमरजेंसी, ट्रॉमा सिस्टम बनाने की जरूरत है। इंडस्ट्री को इसके लिए मदद की जरूरत है।”

दोगुना होगा स्वास्थ्य देखभाल का बजट

Advertisement

डॉ पॉल ने कहा कि राज्य सरकारें अपने स्वास्थ्य देखभाल बजट को मौजूदा 4.5 प्रतिशत से बढ़ाकर 8 प्रतिशत करने की योजना बना रही हैं। यह स्वास्थ्य देखभाल की स्थिति में सुधार करेगा। उन्होंने अगले साल के बजट के लिए निजी क्षेत्र को सुझाव देने की अपील की।

स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे पर अपने विचार व्यक्त करते हुए, डॉ पॉल ने कहा कि अधिक से अधिक जिला अस्पतालों को मेडिकल कॉलेजों में बदलने की संभावना पर ध्यान केंद्रित किया जाना चाहिए, जिससे मानव संसाधन बढ़ाने में मदद मिल सके। उन्होंने निजी क्षेत्र से भी डीएनबी शिक्षा पर ध्यान देने की अपील की। उन्होंने कहा कि देश में बेहतर विशेषज्ञ डॉक्टर उपलब्ध होंगे।

Advertisement