SpreadIt News | Digital Newspaper

त्योहारी सीजन से पहले सरकार ने दी ग्रीन पटाखों के इस्तेमाल, बिक्री की अनुमति

जयपुर: , राजस्थान सरकार ने त्योहारी सीजन से पहले शुक्रवार को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) के अंतर्गत आने वाले क्षेत्रों को छोड़कर, राज्य में ग्रीन पटाखों के उपयोग और बिक्री की अनुमति दी। इससे व्यापारियों का नुकसना काम होगा और प्रदुषण भी काम रहेगा, ऐसा सरकार का मानना है।

पिछले महीने सभी पटाखों लगाया था प्रतिबन्ध 

Advertisement

राज्य सरकार ने 30 सितंबर को जारी एक आदेश में कोविड-19 और अन्य बीमारियों के रोगियों को पटाखों के जहरीले धुएं से होने वाले खतरे को देखते हुए पटाखों की बिक्री और उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया था। यह अवधि 1 अक्टूबर 2021 से 31 जनवरी 2022 तक की थी।

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र छोड़कर बाकी राज्यभर में अनुमति 

Advertisement

हालांकि, राजस्थान सर्कार के गृह विभाग ने शुक्रवार को एक संशोधित एडवाइजरी जारी की। इस एडवाइजरी  में राज्य में राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले क्षेत्रों को छोड़कर राज्य की अन्य जगहों पर हरित पटाखों के उपयोग और बिक्री की अनुमति दी गई है। आदेश में कहा गया है कि राजस्थान में राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र को छोड़कर ग्रीन पटाखों की बिक्री और उपयोग की अनुमति होगी।

खराब वायु गुणवत्ता वाले शहरों में प्रतिबंध जारी रहेगा 

Advertisement

हालांकि, खराब वायु गुणवत्ता वाले शहरों में पटाखों के बेचने या उपयोग करने पर प्रतिबंध लागू रहेगा। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के वेब पोर्टल पर वायु गुणवत्ता सूचकांक की सूचि उपलब्ध है।

आदेश में कहा गया है कि नीरी मोबाइल एप्लिकेशन (NEERI) का उपयोग करके क्रैकर बॉक्स पर क्यूआर कोड को स्कैन करके ग्रीन क्रैकर्स की पहचान की जा सकती है।

Advertisement

दिल्ली में सभी प्रकार के पटाखों पर प्रतिबंध बरक़रार 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने दो महीने पहले ही व्यापारी और जनता को आदेश दिया था की दिली में किसी भी प्रकार के पटाखे बेचना या उनका उपयोग करना पूरी तरह प्रतिबंधित है।  व्यापारियों को नुकसान न हो इसलिए केजरीवाल ने २ महीने पहले ही यह निर्णय लिया था।  फ़िलहाल दिल्ली दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों में से के है।

Advertisement